दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के लिए केजरीवाल जिम्मेदार- आदेश गुप्ता

 

नई दिल्ली, 02 मार्च। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री आदेश गुप्ता ने दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण पर चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि यमुना का प्रदूषण कम होने की जगह बढ़ा है जिसके कारण लोगों में पेट और चर्म रोग बढ़ रहे हैं। यमुना में आज प्रतिदिन 4,400 मिलीयन लीटर गंदा पानी गिर रहा है जिसकी रोकथाम के लिए केजरीवाल सरकार ने कुछ नहीं किया।

०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow
०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow

श्री आदेश गुप्ता ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए कहा कि दिल्ली में जल प्रदूषण के साथ-साथ वायु प्रदूषण की मार भी झेलनी पड़ रही है जिसके कारण यहां फेफड़ों और सांस की बिमारियां तेजी से बढ़ रही हैं। यह सब केजरीवाल सरकार की लापरवाही का नतीजा है जो झूठे प्रचार के दम पर लोगों की आंखों में धूल झोंक रही है, लेकिन भारतीय जनता पार्टी भी चुप नहीं बैठने वाली। एक मार्च को 183 मेट्रो स्टेशन पर हुए संपर्क अभियान में भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के लगभग 25 लाख लोगों से मुलाकात की और केजरीवाल के भ्रष्टाचार को उजागर किया। प्रदर्शन में नेता प्रतिपक्ष श्री रामवीर सिंह बिधूड़ी, प्रदेश महामंत्री श्री कुलजीत सिंह चहल, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री राजीव बब्बर, भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष श्री वासू रुखड़ और प्रदेश पूर्वांचल मोर्चा के अध्यक्ष श्री कौशल मिश्रा उपस्थित थे।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल हर बार चुनाव के समय दिल्लीवासियों से साफ यमुना में डुबकी लगाने की बात करते हैं, लेकिन साल दर साल बीतने के बाद भी वह दिन आज तक नहीं आया कि लोग यमुना में डुबकी लगा सके। घर से ही प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले केजरीवाल को पराली खाद्य पर भ्रष्टाचार का जवाब देना पड़ेगा। केजरीवाल सरकार द्वारा 40,000 रुपये की दवाईयां खरीदी गई और उसे किसानों को बांटने के लिए 24 लाख रुपया खर्च किए, लेकिन इसके प्रचार में केजरीवाल सरकार ने पूरे नौ करोड़ रुपये खर्च कर दिए जबकि इसका फायदा सिर्फ 300 किसानों तक ही पहुंचा। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार पहले तो पराली का बहाना बनाकर बचती रही। दिल्ली की जनता को बताया गया कि प्रदूषण का मुख्य कारण पराली है, लेकिन अब तो पराली भी नहीं जल रही है, फिर पिछले साल प्रतिदिन 148 मौतों के जिम्मेदार कौन है? ग्रीनपीस की रिपोर्ट के अनुसार पिछले साल 54000 मौतें हुई हैं। उन्होंने कहा कि 883 करोड़ रुपये सेस(उपकर) के नाम पर केजरीवाल सरकार एकत्र कर चुकी है लेकिन उसमें से प्रदूषण नियंत्रण के लिए सिर्फ 1.6 प्रतिशत राशि ही अभी तक खर्च की गई है।

श्री आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल जिस तरह से दिल्ली के पैसों को अपने प्रचार-प्रसार और राजनीतिक विस्तार में खर्च कर रहे हैं, वो पूरी दिल्ली जान चुकी है। केजरीवाल सरकार को जवाब देना पड़ेगा कि आखिर गुजरात, बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश या फिर पंजाब में दिल्ली की जनता का पैसा पानी की तरह बहा रहे हैं, आखिर उन्हें यह अधिकार किसने दे दिया। श्री गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार अभी तक भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुप्पी साधी हुई, लेकिन भारतीय जनता पार्टी तब तक आवाज उठाती रहेगी जब तक केजरीवाल घोटाले के पैसों का जवाब नहीं दे देते।

Leave a Reply

error: Content is protected !!