पीएम मोदी जल्‍द ही जबलपुर जाएंगे

पीएम मोदी जल्‍द ही जबलपुर जाएंगे

श्रीनारद मी‍डिया, सेंट्रल डेस्‍क:

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही जबलपुर जाएंगे। वे राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर जबलपुर में होने जा रहे मुख्य समारोह में शामिल होंगे। इसके लिए आयोजन स्थल तकरीबन फाइनल कर लिया गया है। सूत्रों के अनुसार 23 और 24 अप्रैल को आयोजित होने वाला कार्यक्रम केन्ट क्षेत्र स्थित गैरीसन ग्राउण्ड में हो सकता है। हालांकि इस मामले में अभी अधिकृत रूप से कुछ नहीं कहा जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी 24 अप्रैल को आएंगे। आयोजन स्थल के संबंध में सोमवार को कलेक्टर छवि भारद्वाज और एसपी कुमार सौरभ ने गैरीसन ग्राउंड, आयुर्वेद कॉलेज परिसर ग्वारिघाट और जवाहर लाल नेहरू कृषि विवि के परिसर का मुआयना किया। प्रधानमंत्री की सभा इन तीनों स्थलों में से किसी एक जगह पर ही आयोजित की जाएगी। आला अधिकारियों द्वारा किए गए निरीक्षण में गैरीसन को ही प्राथमिकता दी जा रही है।

बन रहा स्पेशल सेफ हाउस
पीएम के दौरों में उनकी सुरक्षा का सवाल सबसे अहम होता है। इस बात को दृष्टिगत रखते हुए शहर में उनके लिए सेफ हाउस बनाए जा रहे हैं। एक-दो नहीं बल्कि पूरे तीन सेफ हाउस तैयार किए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार सिविललाइन स्थित सर्किट हाउस नंबर एक, सर्किट हाउस नंबर दो और कृषि विवि परिसर वाले गेस्ट हाउस को पूरी तरह सेफ जोन बनाया जा रहा है। एक अन्य स्पेशल सेफ हाउस भी बनाया जा रहा है। इसकी जानकारी पूरी तरह से गोपनीय रखी जा रही है। गौरतलब है कि पीएम मोदी विश्व के उन बड़े नेताओं में शामिल हैं जिनकी जान को सबसे ज्यादा खतरा है। उनके कार्यक्रम को लेकर गुप्तचर एजेंसियां शहर में डेरा डाल चुकी हैं। सुरक्षा के हर पहलू की पड़ताल की जा रही है। आतंकवादियों के कनेक्शन के कारण जबलपुर पहले ही सुरक्षा एजेंसियों के राडार पर है। हाल ही में यहां की आयुध निर्माणी में कथित अवैध बंगलादेशी श्रमिकों के मिलने से अतिरिक्त सतर्कता बरती जा रही है।

पहले आ जाएगा दल
पीएम के कार्यक्रम को लेकर प्रशासन और पुलिस अलर्ट हो गए हैं। जिले की सीमाओं पर नजर रखी जा रही है। शहर के अंदरूनी इलाकों में भी सुरक्षा व्यवस्था मजबूत की जा रही है। बताया जा रहा है कि जल्द ही पीएम के आगमन का विस्तृत कार्यक्रम जारी हो जाएगा। इसी के साथ प्रोटोकॉल के तहत तैयारियां प्रारंभ कर दी जाएंगी। प्रधानमंत्री के साथ उनके अधिकारियों व सुरक्षा दल में शामिल बड़े अमले के सभी व्यवस्थाएं भी की जा रहीं हैं। पीएम के आने से पहले पीएमओ और सुरक्षा दल के रूप में बड़ा अमला आ जाएगा।

Leave a Reply