कुरुक्षेत्र के समाजसेवियों द्वारा 223 वीं साईकिल रैली के साथ पौधारोपण भी किया

कुरुक्षेत्र के समाजसेवियों द्वारा 223 वीं साईकिल रैली के साथ पौधारोपण भी किया

श्रीनारद मीडिया‚ हरियाणा संपादक – वैद्य पण्डित प्रमोद कौशिक ( छाया – सुकान्त पण्डित )

मनुष्य योनि में जन्म लेकर भी जंकल्याणार्थ कार्य नही किये तो मनुष्य योनि पशु के समान: जय भगवान सिंगला।

हरियाणा कुरुक्षेत्र :- प्रेरणा समिति हरियाणा, वसुधैव कुटुंबकम संस्कृति सेवा आयाम कुरुक्षेत्र व प्रेरणा पंजीकृत कुरुक्षेत्र के तत्वावधान में 223 वीं साईकिल रैली के साथ पौधारोपण किया गया। कार्यक्रम के अंतर्गत पुलिस लाइन कॉलोनी के साथ पार्क में नीम, पीपल व पिलखन के पौधे लगाए गए। पौधारोपण में मुख्य अतिथि के रूप में प्रेरणा वृद्ध आश्रम के संचालक समाजसेवी एवं उत्तर भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति जय भगवान सिंगला, आशा सिंगला पधारे जबकि एनसीसी ऑफिसर डॉ केवल कृष्ण विशेष अतिथि रहे। मुख्य अतिथि जय भगवान सिंगला ने कहा कि पौधे सज्जन पुरुष की तरह होते हैं जो हमेशा परोपकार की भावना रखते हैं। वृक्ष अपना सर्वस्व समर्पण कर देते हैं और बदले में कुछ नहीं लेते। जय

भगवान सिंगला ने कहा कि मनुष्य योनि 84 लाख योनियों के बाद मुश्किल से मिलती है इस योनि में जन्म लेने के बाद भी समाज , पर्यावरण व जंकल्याणार्थ कार्य नही किये तो इस धरती पर मनुष्य योनि में जन्म लेना पशु के समान है। राजकीय स्वर्ण पदक विजेता डायमंड रक्तदाता एवं पर्यावरण प्रहरी डॉ अशोक कुमार वर्मा ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि प्रकृति को बचाने के लिए पौधारोपण के साथ साईकिल की सवारी को अपनाना अत्यंत आवश्यक है। हमें अपनी भावी पीढ़ी को जीवित रखने के लिए अधिक से अधिक पौधे लगाने चाहिए। डॉ केवल कृष्ण ने बताया कि उनकी टीम प्रत्येक रविवार को नीम के पौधे लगाती है क्योंकि नीम औषधीय पौधा है। जिसमें सैकड़ों रोगों को दूर करने की शक्ति विद्यमान होती है। उन्होंने कहा कि अपने पूर्वजों की स्मृति में पौधे लगाएं ताकि उसके माध्यम से आपके पूर्वजों की स्मृति हमेशा बनी रहे। डॉ सत्यनारायण शर्मा ने कहा कि पौधे जीवन का आधार है। इस अवसर पर डॉ सत्यनारायण शर्मा, कर्म चंद, रजनीकांत सैनी और कपिल ने योगदान दिया।

Leave a Reply