6 माह बाद 43 हजार को मिली विधवा पेंशन

6 माह बाद 43 हजार को मिली विधवा पेंशन

श्रीनारद मीडिया, लक्ष्‍मण सिंह, सिरौलीगौसपुर, बाराबंकी (यूपी):

 

6 माह बाद 43 हजार को मिली विधवा पेंशन महिलाओं को शासन ने विधवा शासन ने विधवा पेंशन की एक साथ दो किस्तें भेजी है खातों में धनराशि पहुंचने के बाद लाभार्थियों के चेहरों पर खुशी की लहर दौड़ गई है बजट के अभाव में इसी वित्तीय वर्ष में पिछले 6 माह से पेंशन की धनराशि जारी नहीं हो पा रही थी ऐसे में लाभार्थी विभाग के चक्कर काट कर परेशान हो रही थी एक साथ दो प्रामाणिक की किस्ते पाने के बाद इन महिला लाभार्थियों कि दीपावली भी जगमगा हो सकेंगी जिले के महिला कल्याण विभाग में कुल 43 हजार 35 महिलाएं ₹500 प्रतीक मां विधवा पेंशन का लाभ ले रहे हैं लेकिन शासन द्वारा बजट के अभाव में इस वित्तीय वर्ष में पेंशन की किस्ते नहीं जारी की जा रही थी इसको लेकर पेंशन थी विभागीय कार्यालय के चक्कर काट कर परेशान हो रही थी विभागीय अधिकारी भी शासन स्तर से ही ध धनराशि सीधे लाभार्थी के खातों में भेजें जानने की बात कहकर पीछा छुड़ा लेते थे बुधवार को 43 हजार 35 महिलाओं को अप्रैल-मई जून व जुलाई अगस्त व सितंबर माह की एक साथ दो किस्तें ऑनलाइन खाते में भेज दी गई बजट के अभाव में43 हजार महिलाओं को पिछले माह से विधवा पेंशन नहीं मिल सकी थी बुधवार को शासन स्तर से त्रैमासिक की दो किस्तें को रूप में पेंशन की धनराशि खातों में भेजी गई है इससे उन्हें राहत मिलेगी अरुण मौर्य जिला प्रोबेशन अधिकारी75 01 लाभार्थियों को मिली पेंशन शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई इस धनराशि से जिले में 7501 महिला लाभार्थी को पहली बार पेंशन की रकम हासिल हुई है इन महिलाओं ने अप्रैल माह में ऑनलाइन आवेदन किया था इसके बाद विभाग द्वारा इन का सत्यापन करने के बाद उनका डाटा पोस्टल पर अपलोड किया था जिसके बाद उन्हें भी पेंशन की धनराशि नसीब हो गई है इस पेंशन की रकम से अब इन महिलाओं की दीवाली भी जगमग हो सकेंगी75 01 लाभार्थियों को मिली पेंशन शासन द्वारा उपलब्ध कराई गई इस धनराशि से जिले में 7501 महिला लाभार्थी को पहली बार पेंशन की रकम हासिल हुई है इन महिलाओं ने अप्रैल माह में ऑनलाइन आवेदन किया था इसके बाद विभाग द्वारा इन का सत्यापन करने के बाद उनका डाटा पोस्टल पर अपलोड किया था जिसके बाद उन्हें भी पेंशन की धनराशि नसीब हो गई है इस पेंशन की रकम से अब इन महिलाओं की दीवाली भी जगमग हो सकेंगी।

Leave a Reply