11 साल की लड़की की हत्या से दुखी था ब्रेंटन इसलिए New Zealand की मस्जिद में किया हमला

11 साल की लड़की की हत्या से दुखी था ब्रेंटन इसलिए New Zealand की मस्जिद में किया हमला

श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क

हमलावर ब्रेंटन टैरंट के पत्र और वीडियो से साफ हो गया है कि आखिर उसने बड़ी संख्या में निर्दोष लोगों की हत्या क्यों की? 11 साल की बच्ची की मौत से उसका गुस्सा भड़क गया था। अपने पत्र में ब्रेंटन ने स्टॉकहोम में एक उज्बेक व्यक्ति द्वारा भीड़ पर ट्रक चढ़ाने की घटना का जिक्र किया है, जिसमें 5 लोगों की मौत हो गई थी।

साल 2017 में हुई उस घटना के दौरान वह पश्चिम यूरोप में घूम रहा था। इस हमले में 11 साल की एक स्वीडिश बच्ची की मौत ने उसे अंदर से झकझोर दिया था। यहां से जब वह फ्रांस पहुंचा, तो शहरों और कस्बों में प्रवासियों की भीड़ देखकर हिंसा पर उतारू हो गया।

किसी संगठन का सदस्य नहीं, कौन बना प्रेरणा?

करीब तीन महीने पहले उसने क्राइस्टचर्च को टारगेट करने की योजना बनाई। उसने दावा किया है कि वह किसी संगठन का सदस्य नहीं है। हालांकि, उसने यह भी लिखा है कि उसने कई अति राष्ट्रवादी संगठनों को दान दिया है। उसने एक ऐंटी-इमिग्रेशन ग्रुप से संपर्क भी किया था।

कई मकसद तय किए थे

गनमैन ने हमले का कई मकसद तय किया था। उसने उम्मीद जताई थी कि इसके बाद इमिग्रेशन घटेगा। वैसे तो उसने दावा किया कि वह नाजी नहीं है, लेकिन लाइव विडियो में उसकी राइफल पर 14 नंबर लिखा दिखा। इसे हिटलर के “14 वर्ड्‌स” से जोड़कर देखा जा रहा है। हमले के दौरान वह खुश दिख रहा था और शुरुआत में ही उसने कहा था, “आओ, पार्टी शुरू करते हैं।”

Leave a Reply