किशनगंज सदर अस्पताल में शुरू हुई डिजिटल एक्सरे जांच ,जिला पदाधिकारी ने किया शुभारम्भ

किशनगंज सदर अस्पताल में शुरू हुई डिजिटल एक्सरे जांच ,जिला पदाधिकारी ने किया शुभारम्भ

– मरीजों को जांच के लिए निजी एक्सरे केंद्रों पर नहीं जाना होगा :- सिविल सर्जन:
– पीपीपी मोड पर दी जाएगी एक्सरे की सुविधा

श्रीनारद मीडिया‚ किशनगंज,  (बिहार):

जिले में मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य केंद्रों की आधारभूत संरचना को अधिकाधिक मजबूत बनाने की हर संभव कोशिश की जा रही है| इस कड़ी में सरकारी अस्पतालों में नए – नए उपकरण लगाए जा रहे हैं| अब किशनगंज सदर अस्पताल में डिजिटल एक्सरे मशीन की सेवा शुरू की गयी है। इससे अब जिलेवासियों को डिजिटल एक्सरे कराने के लिए निजी और महंगे सेंटरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। सदर अस्पताल में पीपीपी मोड पर ब्रिज हेल्थ सर्विस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की मदद से यह सुविधा उपलब्ध कराई गयी है । जिले में मरीजों की काफी दिनों से मांग थी कि सदर अस्पताल में यह सुविधा उपलब्ध कराई जाए। सदर अस्पताल में डिजिटल एक्सरे जांच सुविधा का शुभारंभ 26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश ने किया । जिला पदाधिकारी ने बताया कि डिजिटल एक्सरे की सुविधा की शुरुआत होने से पूरे जिले को इसका लाभ मिलेगा। उद्घाटन समारोह में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ रफत हुसैन, सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ अनवर हुसैन, डॉ देवेंद्र कुमार , जिला कार्यक्रम प्रबंन्धक डॉ मुनाज़िम, जिला कार्यक्रम समन्वयक विश्वजीत कुमार आदि मौजूद रहे ।

मरीजों को जांच के लिए निजी एक्सरे केंद्रों पर नहीं जाना होगा :- सिविल सर्जन:
सिविल सर्जन डॉ. श्रीनंदन ने बताया ब्रिज हेल्थ सर्विस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की मदद से डिजिटल एक्सरे मशीन मशीन लगाने की पहल की गयी है| अब मरीजों को जांच के लिए निजी एक्सरे केंद्रों पर नहीं जाना होगा। मालूम हो कि निजी एक्सरे केंद्रों में जांच कराने के लिए मरीजों को 500 से 3000 रुपए देना होता है। गरीब तबकों के मरीजों के लिए यह राशि भुगतान करना काफी कष्टकारक होता है। एक्स-रे मशीन के सदर अस्पताल में स्थापित हो जाने के बाद एक्स-रे संबधित मरीजों को शहर के अन्य अस्पतालों में नहीं भटकना पड़ेगा। मरीजों को डिजिटल एक्स-रे के लिए अकसर शहर के मल्टी अस्पताल का सहारा लेना पड़ रहा है । वहां गरीब वर्ग के मरीजों के लिए डिजिटल एक्स-रे कराना किसी चुनौती से कम नहीं ही था। । मगर यही सुविधा अब उन्हें सरकारी अस्पताल में नि:शुल्क मिलेगी। मरीजों की संख्या व बीमारी के अनुसार त्वरित एक्स-रे मशीन लगाने के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति ने निर्देश दिया है। इस पहल के तहत सदर अस्पताल में डिजिटल एक्सरे की सुविधा हर दिन चौबीसों घंटे सेवा दी जाएगी।
पीपीपी मोड पर दी जाएगी एक्सरे की सुविधा,-
मशीन का संचालन पीपीपी मोड यानि पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप पर किया जाएगा। ब्रिज हेल्थ सर्विस इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के तकनीशियन टेकनिसियन ने बताया की डिजिटल एक्सरे की सुविधा केंद्र सरकार स्वास्थ्य योजना से सदर अस्पताल के मरीजों जो को बिलकुल मुफ्त और बाहरी मरीजों जो के लिए 25 % कम दर पर उपलब्ध होगी। यह सुविधा पूरे जिले के मरीजों को उपलब्ध करायी या जायेगी गा |
कोरोना की गाइडलाइन का किया जा रहा है पालन-
सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ अनवर हुसैन ने बताया कि पूर्व में अस्पताल में नॉर्मल एक्सरे की सुविधा थी.| अब स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर अस्पताल परिसर में डिजिटल एक्सरे मशीन लगायी गयी और इस आधुनिक मशीन के लगने से मरीजों को काफी सुविधा होगी.| अस्पताल में डिजिटल एक्सरे करने के दौरान कोरोना की गाइडलाइन का पालन किया जायेगा। स्वास्थ्यकर्मी मास्क और ग्लब्स पहने रहेंगे। वहीं मरीज तथा उनके साथ आने वाले परिजन भी कोरोना की गाइडलाइन का पालन करेंगे। जिनके पास मास्क नहीं होगा उसे उपलब्ध कराया जायेगा। अस्पताल को हर दिन सैनिटाइज भी कराया जाता है।

— डिजिटल एक्सरे मशीन के लाभ—
– 70 प्रतिशत तक रेडिएशन कम होगा
– आसानी से सभी प्रकार के एक्सरे हो जाएंगे
– एक्सरे फिल्म की गुणवत्ता अच्छी होगी जो चिकित्सक आसानी से पढ़ पाएंगे
– लोगों को एक्सरे फिल्म के लिए इंतजार नहीं ही करना पड़ेगा
– इसको कम्प्यूटर में आसानी से स्टोर किया जा सकेगा
– कम खर्चा और पर्यावरण के हिसाब से लाभप्रद
– डेंटल एक्सरे भी इससे किए जा सकेंगे

shrinarad media

Leave a Reply

Next Post

गणतंत्र दिवस पर आयोजित झांकी में राज्य स्वास्थ्य समिति की झांकी को मिला दूसरा स्थान

Wed Jan 27 , 2021
  – कोरोना वारियर्स को सलाम एवं पुष्पवर्षा करते हुए निकली गई थी झांकी – वैश्विक महामारी में निःस्वार्थ भाव से स्वास्थ्य कर्मियों ने निभाई अपनी जिम्मेदारी – कोविड-19 टीकाकरण को भी झांकी में किया गया शामिल – झांकी के माध्यम से कोरोना संक्रमण को नियंत्रित रखने का दिया गया […]
error: Content is protected !!