जिला पंचायत का कार्यकाल समाप्त, डीएम बने प्रशासक, जांच के बाद ही होगा विकास कार्यों का भुगतान

जिला पंचायत का कार्यकाल समाप्त, डीएम बने प्रशासक, जांच के बाद ही होगा विकास कार्यों का भुगतान

श्रीनारद मीडिया ब्यूरो प्रमुख / सुनील मिश्रा वाराणसी (यूपी)

चंदौली / जिला पंचायत अध्यक्ष व सदस्यों का कार्यकाल बुधवार को समाप्त हो गया। शासन स्तर से जिलाधिकारी प्रशासक बनाए गए हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष का खाता सीज होने के बाद डीएम व अपर अधिकारी को सारे वित्तीय व प्रशासनिक अधिकार मिल गए हैं। जिला पंचायत के जरिए गांवों में पांचवें, 14वें वित्त व राज्य वित्त से कराए जाने वाले कार्यों की जांच के बाद ही अब भुगतान होगा। जनपद में जिला पंचायत की 35 सीटें हैं। जिला पंचायत सदस्यों ने जनवरी 2015 में कार्यभार ग्रहण किया था। ऐसे में अब तक चुनाव हो जाना चाहिए था लेकिन कोरोना के चलते चार माह तक प्रशासनिक कामकाज ठप रहे। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव पर भी इसका असर पड़ा। निर्वाचन आयोग ने सितंबर माह में चुनाव की तैयारी शुरू की। ग्राम प्रधानों का 25 दिसंबर को ही समाप्त हो गया। वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष व सदस्य का कार्यकाल समाप्त होने के बाद उनके वित्तीय व प्रशासनिक अधिकारी सीज कर दिए गए हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष का डिजिटल हस्ताक्षर अब मान्य नहीं होगा। ऐसे में शासन स्तर से जिलाधिकारी संजीव सिंह को प्रशासक नियुक्त कर दिया गया है। सभी वित्तीय व प्रशासनिक कार्य और भुगतान डीएम व अपर अधिकारी के हस्ताक्षर से ही कराए जाएंगे। जिला पंचायत के जरिए 14वें, पांचवें व राज्य वित्त से ग्राम पंचायतों में विभिन्न कार्य कराए जा रहे हैं। अधिसूचना जारी होने के बाद भी विकास कार्य जारी रहेंगे। अब बिना जांच के विकास कार्यों का भुगतान नहीं होगा। ऐसे में कार्यदाई संस्थाओं व ठीकेदारों पर शिकंजा कस गया है। बन रहे सीसी रोड, इंटरलाकिंग मार्ग
जिला पंचायत के मद से गांवों में सीसी रोड, इंटरलाकिंग, नाली निर्माण समेत अन्य काम कराए जा रहे हैं। तमाम कार्यदाई संस्थाएं निर्माण कार्य करा रही हैं। धांधली की शिकायतों के बावजूद पहले आराम से भुगतान होता रहा लेकिन जिलाधिकारी के प्रशासक बनने के बाद स्थिति बदल गई है। अनियमितता बरतने वाले ठीकेदार कार्रवाई की जद में आ सकते हैं।

shrinarad media

Leave a Reply

Next Post

कोरोना काल में मंदा है पतंग का धंधा, चाइनीज़ मांझे की जगह बरेली के मांझे की हो रहे बिक्री

Thu Jan 14 , 2021
कोरोना काल में मंदा है पतंग का धंधा, चाइनीज़ मांझे की जगह बरेली के मांझे की हो रहे बिक्री श्रीनारद मीडिया ब्यूरो प्रमुख / सुनील मिश्रा वाराणसी (यूपी) वाराणसी / कोरोना काल के बाद पड़े मकर संक्रांति त्यौहार पर नभ में पतंग का संसार सा वाराणसी के आसमान पर नज़र […]
WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
error: Content is protected !!