निश्चित हार से डरे लोग फिर उठाने लगे ईवीएम पर सवाल

निश्चित हार से डरे लोग फिर उठाने लगे ईवीएम पर सवाल
…………………………..
बिहार में बूथ लूट कर राज करने वालों के दिन लदे
– सुशील कुमार मोदी

श्रीनारद मीडिया, पटना (बिहार):

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में इस बार 2014 से भी तेज लहर देख कर महामिलावटी गठबंधन के लोग सम्भावित हार पर जनता से मुंह छिपाने का बहाना ढूंढ रहे हैं, इसलिए ईवीएम पर सवाल उठाते हैं।
ईवीएम से चुनाव कराने में बेइमानी की गुंजाइश खत्म हो गई, लेकिन इससे
उन लोगों को परेशानी हुई, जिन्होंने बूथ लूट कर बिहार में 15 साल राज किया। उनके चाहने से दुनिया बैलेट पेपर, बैलगाड़ी और लालटेन के दौर में नहीं लौट जाएगी।
जब कांग्रेस तीन राज्यों में विधानसभा का चुनाव जीती, तब इन दलों ने ईवीएम के मुद्दे पर चुप्पी साध ली थी।
चुनाव आयोग ने ईवीएम को टैम्परिंग प्रूफ पाया और इसे हैक कर दिखाने की खुली चुनौती दी, लेकिन कोई भी दल आयोग की चुनौती स्वीकार नहीं कर सका। इस मुद्दे पर आयोग पहुंचे लोगों में ईवीएम चोर में शामिल था।
हाल में सुप्रीम कोर्ट ने हर विधान सभा क्षेत्र के पांच बूथों की पर्ची मिलाने का जो आदेश दिया है, उस पर भी उन्हें भरोसा क्यों नहीं है?

जो लोग संविधान बचाने का नाटक करते हैं, वे ही चुनाव आयोग और सुप्रीम कोर्ट के फैसलों पर संदेह कर इनकी विश्वसनीयता नष्ट कर रहे हैं। ऐसे हथकंडों से वे जनमत की आंधी नहीं रोक पाएंगे।
……………………..

Leave a Reply