चौथे राष्ट्रीय भोजपुरी सम्मेलन का रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुआ समापन 

चौथे राष्ट्रीय भोजपुरी सम्मेलन का रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुआ समापन

०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow
०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow

भोजपुरी को संबिधान के आठवी सूची में शामिल करने के मांग का प्रस्ताव प्रधान मंत्री को भेजने का लिया गया निर्णय

श्रीनारद मीडिया, एम सावर्ण, भगवानपुर हाट, सीवान (बिहार )

सीवान  जिले के भगवानपुर हाट प्रखण्ड के भगवानपुर महाविद्यालय के परिसर में रविवार को चौथे राष्ट्रीय भोजपुरी महोत्सव का समापन रविवार को रंगारंग कार्यक्रम के साथ हुआ । पिछले तीन दिनों से चल रहे इस महोत्सव में समापन के दिन तीन सत्र का आयोजन हुआ ।जिसमें भोजपुरी भाषा को संबिधान आठवीं अनुसूची में शामिल करने की जोरदार मांग की गई ।इसके लिए एक आंदोलन प्रारम्भ करने की आवश्यकता पर बल दिया गया । बक्ताओं ने कहा कि भोजपुरी भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल नही होने का मुख्य कारण हमारी अलग अलग गुट बंदी है । जबतक सभी लोग मिलकर एक मंच पर आकर आंदोलणात्मक रुख अख्तियार नही करेंगे तबतक सरकार सोचने पर मजबूर नही होगी । प्रो सूर्यदेव सिंह ने कहा कि बुद्धजीवी वर्ग के भरोसे यह आंदोलन सफल नही होगा । आठवीं अनुसूची में शामिल करने का प्रस्ताव ध्वनि मत से पारित कर ये प्रस्ताव के प्रति प्रधान मंत्री ,मुख्य मंत्री,तथा राज्यपाल बिहार,उतर प्रदेश,मध्य प्रदेश,राजस्थान सरकार को भेजने का निर्णय लिया गया । दूसरे सत्र में भोजपुरी भाषा एवं साहित्य के विकास में अखिल भारतीय साहित्य परिषद के भूमिका पर चर्चा पर बोलते हुए बक्ताओं ने कहा कि भोजपुरी के कई बिद्वानो को इस परिषद से सम्मानित किया गया है । समय समय पर साहित्य परिषद देश के अन्य भाषा के बिषय में काम करते हुए भोजपुरी भाषा के उथान के लिए काम करता है । बक्ताओं में डॉ अशोक , दिवाकर राय, विश्वनाथ शर्मा,कुमारी रेखा,शुभम सहाय,बृजमोहन अनारी ने सम्बोधित किया ।तीसरे सत्र में कवि सम्मेलन में हास्य एवं व्यंग कविता पर श्रोता ठहाके लगाते रहे । नागेन्द्र गिरी के कविता हम रोज पढीले रामायण और गीता,मेहरी के बोली मीठ लागेला माई बाप के तीता , कवियों में गुरुचरण गुरु,लोहा सिंह,सुनेश्वर कुमार निर्भय,वीरेंद्र कुमार अभय,सतेंद्र कुमार सूक्ष्म दर्शी,मूंगा लाल शास्त्री,विक्रमा पण्डित,आजय सहनीआदि दर्जनों कवियों ने अपनी भोजपुरी कविता से लोगों को खूब वाह वाही लूटी । संचालन डॉ उमाशंकर साहू ने किया ।

 

यह भी पढ़े 

बाइक सवार अपराधियों ने मुखिया के भाई को मारी गोली

रोटी बैंक पटना के सदस्यों ने जरुरतमंदों को कराया भोजन

नि:शुल्क चिकित्सा शिविर में 500 जरुरतमंदों  का  किया गया ईलाज, वितरित हुईं दवाएं

रांची में एक और युवक की पीट-पीटकर हत्या.

चचेरे भाई ने बहन को बनाया हवस का शिकार.

जलालपुर में पंडित महेंद्र मिश्र की 136वीं जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई

Leave a Reply

error: Content is protected !!