गोपालगंज की खबरे : अस्पताल में ही कोरोना के गाइडलाइन का नहीं हो रहा पालन 

 

गोपालगंज की खबरे : अस्पताल में ही कोरोना के गाइडलाइन का नहीं हो रहा पालन

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्टेट डेस्क :

गोपालगंज।अनुमंडलीय अस्पताल परिसर में ही जिले का सबसे अधिक बेड का कोविड हेल्थकेयर सेंटर है। लेकिन इस अस्पताल में ही कोरोना के गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा। ऐसे में दूसरी जगह की बात कौन करे।

इस अस्पताल में न तो सैनिटाइजर की व्यवस्था है और ना ही यहां ओपीडी में इलाज कराने आने वाले मरीजों का थर्मल स्क्रीनिग किया जाता है। यहां इलाज करने वाले अधिकांश मरीज भी बिना मास्क पहने आते हैं। सोमवार को भी हथुआ अनुमंडलीय अस्पताल में मरीजों की भीड़ लगी थी। मरीजों के इस भीड़ के बीच यहां कोरोना से बचाव के प्रति हर तरफ उदासीनता नजर आई। अधिकांश मरीजों ने मास्क नहीं पहना था। शारीरिक दूरी का कहीं भी पालन नहीं किया जा रहा था। हालांकि पर्जी काउंटर पर थर्मन स्क्रीनिग मशीन दिखी। लेकिन किसी मरीज का थर्मल स्क्रीनिग नहीं किया जा रहा था। यही स्थिति इमरजेंसी कक्ष में दिखी। चिकित्सक कक्ष में मरीज और उनके साथ आए स्वजन एक दूसरे से सट कर खड़ दिखे। हालांकि चिकित्सक मास्क पहने थे। लेकिन मरीज के साथ आए स्वजन बिना मास्क के दिखे। ओपीडी से लेकर इमरजेंसी कक्ष में सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं दिखी। अनुमंडलीय अस्पताल के डीएस डॉ. रमतेश कुमार अपने कक्ष में नहीं थे। मोबाइल फोन पर उनसे संपर्क करने पर उन्होंने कहा कि अस्पताल परिसर में लोगों को मास्क पहनने तथा शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए कहा जाता है। लेकिन अस्तपाल आने वाले लोग कोरोना महामारी के बचाव को लेकर सजग नहीं हैं। अस्पताल परिसर में भी लोग बिना मास्क तथा शारीरिक दूरी का बिना पालन किए एक जगह इकट्ठा हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि जनरल ओपीडी में सारे मरीजों की थर्मल स्क्रीनिग की जाती है। अस्पताल परिसर में सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। सैनिटाइजर की व्यवस्था करने का प्रयास किया जा रहा है।

 

विवाहित एक महिला ने अपने पति व ससुराल के लोगों पर अपने दो मासूम बच्चों की हत्या का आरोप लगाया

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्टेट डेस्क :

गोपालगंज : उचकागांव थाना क्षेत्र के त्रिलोकपुर गांव में विवाहित एक महिला ने अपने पति व ससुराल के लोगों पर अपने दो मासूम बच्चों की हत्या का आरोप लगाते हुए सोमवार को घटना को लेकर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी के न्यायालय में मुकदमा दायर किया। न्यायालय में इस वाद में सुनवाई के लिए आगे की तारीख तय किया है। दायर वाद में हथुआ थाना क्षेत्र के बरवां कपरपुरा गांव के केदार साह की पुत्री रिकी देवी ने आरोप लगाया है कि उसकी शादी उचकगांव थाना क्षेत्र के त्रिलोकपुर गांव के जयप्रकाश साह के साथ वर्ष 2014 में हुई थी। शादी के बाद ससुराल जाने पर कुछ समय तक उसे उसके पति व ससुराल के लोगों ने ठीक से रखा। बाद में उसे उसके ससुराल के लोगों ने दहेज के लिए प्रताड़ित करना प्रारंभ कर दिया। महिला ने न्यायालय में दायर वाद में आरोप लगाया है कि 23 जून 2019 को उसके पति व ससुरान के लोगों ने उसकी पुत्री व डेढ़ साल के मासूम बच्चे को छीन लिया तथा उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया। ससुराल से बेघर होने के बाद वह अपने मायके पहुंची। महिला ने आरोप लगाया है कि 10 अगस्त 2020 को उसके डेढ़ वर्षीय पुत्र आशीष की उसके ससुराल के लोगों ने हत्या कर दिया। इस बात की जानकारी मिलने के बाद जब वह अपने ससुराल पहुंची तो वहां उनकी पुत्री भी गायब मिली। काफी खोजबीन के बाद भी उसकी पुत्री के बारे में भी कोई सुराग ससुराल में नहीं मिला। पीड़ित महिला ने दायर वाद में पति पर दूसरी शादी करने की नियत से पुत्री व पुत्र की हत्या कर दिए जाने का आरोप लगाया है।

 

 

सुबह खेत की तरफ गई एक महिला की  पैर फिसलने से  तालाब में गिरकर मौत हो गयी

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्टेट डेस्क :

गोपालगंज : बरौली थाना क्षेत्र के सराड़ गांव में सोमवार की सुबह खेत की तरफ गई एक महिला पैर फिसलने से एक तालाब में गिर गईं। जिससे पानी में डूबने से उनकी मौत हो गई। ग्रामीणों से इस घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल में भेज दिया। महिला की मौत से गांव का माहौल गमगीन हो गया है। स्वजनों के चित्कार से ग्रामीणों की आंखें भी नम हो गईं।

बताया जाता है कि सराड़ गांव निवासी 70 वर्षीय सोनमती कुंवर सोमवार की सुबह खेत की तरफ शौच करने गई थीं। तभी पैर फिसलने से ये एक तालाब में गिर गईं। जिससे इनकी मौत हो गई। कुछ देर बाद इस घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने महिला का शव तालाब से निकाल कर इसकी सूचना पुलिस को दिया।

 

 

गंडक नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव के बाद कटाव हुआ तेज

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्टेट डेस्क :

गोपालगंज : गंडक नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव के बाद कटाव तेज होता जा रहा है। कुचायकोट प्रखंड के काला मटिहनिया पंचायत में तबाही मचाने के बाद गंडक नदी अब सदर प्रखंड के कठघरवां पंचायत के मंझरिया में तेजी से कटाव कर रही है। नदी के लगातार कटाव के कारण मंझरियां गांव स्थित मध्य विद्यालय को खतरा पैदा हो गया है। नदी के कटाव के कारण विद्यालय का एक बड़ा हिस्सा सोमवार को नदी के गर्भ में समा गया। नदी तेजी से विद्यालय को काटने में लगी है। लेकिन बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारी अबतक विद्यालय को बचाने की दिशा में कुछ भी नहीं कर सके हैं।गंडक नदी करीब एक पखवाड़े से कुचायकोट प्रखंड के काला मटिहनिया पंचायत में कटाव कर रही है। नदी के कटाव के कारण विश्वंभरपुर में आंगनबाड़ी केंद्र ध्वस्त हो चुका है तथा नदी तेजी से इस पंचायत के वार्ड नंबर तीन व छह की ओर बढ़ रही है। काफी प्रयास के बाद भी यहां कटाव रोक पाने में बाढ़ नियंत्रण विभाग सफल नहीं हो सका है। कुचायकोट के बाद गंडक नदी ने सदर प्रखंड के मंझरिया गांव में कटाव तेज कर दिया है। कटाव का आलम यह है कि शनिवार तक विद्यालय से काफी दूरी पर बह रही गंडक नदी 24 घंटे के अंदर नदी के समीप पहुंच गई तथा सोमवार की सुबह नदी के कटाव के कारण मध्य विद्यालय मंझरिया का शौचालय नदी के आकोश में चला गया। कटाव की सूचना मिलने के बाद सदर अंचल के सीओ विजय कुमार सिंह ने मंझरियां गांव में पहुंचकर कटाव की स्थिति का जायजा लिया। बीडीओ ने बताया कि कटाव की रफ्तार काफी तेज होने के कारण विद्यालय को खतरा बढ़ गया है। उन्होंने बताया कि जल संसाधन विभाग को कटाव रोधी कार्य तेजी से प्रारंभ करने का निर्देश दिया गया है।

इनसेट

विद्यालय भवन गिरा तो ढूृंढना होगा मतदान केंद्र के लिए भवन

गोपालगंज : गोपालगंज विधानसभा क्षेत्र का मतदान केंद्र संख्या 43 इसी विद्यालय भवन में स्थित है। अगर कटाव के कारण यह विद्यालय भवन ध्वस्त होता है तो उस स्थिति में चुनाव के दौरान मतदान केंद्र के लिए नया सरकारी भवन ढूंढना होगा। जो दियारा इलाके के लिए आसान नहीं है। बहरहाल विद्यालय को बचाने की दिशा में अबतक सरकारी प्रयास प्रारंभ नहीं हो सका है।

 

कुचायकोट  प्रखंड कार्यालय परिसर में राशन कार्ड बनवाने के लिए उमड़ी भीड़

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्टेट डेस्क :

गोपालगंज।कुचायकोट: प्रखंड कार्यालय परिसर में राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन पत्र जमा करने के लिए सोमवार को ग्रामीणों की भारी भीड़ के कारण अफरातफरी की स्थिति बन गई। भारी भीड़ के कारण ग्रामीण दिन भर परेशानी से जूझते रहे । हालांकि प्रखंड प्रशासन ने आरटीपीएस काउंटर की संख्या बढ़ा दिया है। एक की जगह सोमवार को आवेदन जमा करने के लिए 15 काउंटर खोले गए। लेकिन भारी भीड़ के आगे यह व्यवस्था भी फेल हो गई।

कुचायकोट प्रखंड की सभी 31 पंचायतों के लोगों के राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन जमा करने के लिए हर पंचायत के लिए अलग-अलग तिथि निर्धारित की गई है। प्रत्येक कार्य दिवस पर छह पंचायत के लोगों को राशन कार्ड के लिए आवेदन पत्र जमा करने की तिथि निर्धारित है। जबकी अंतिम दिन सात पंचायत के लोगों को आवेदन जमा करना है। यह व्यवस्था लागू होने के पहले दिन शनिवार को भारी भीड़ उमड पड़ी। आवेदन जमा नहीं होने पर लोगों ने हंगामा किया था। जिससे देखते हुए सोमवार को काउंटर की संख्या एक की जगह बढ़ा कर 15 कर दी गई। सोमवार को प्रखंड कार्यालय परिसर में खोले गए 15 काउंटर पर आवेदन लेने का कार्य शुरू हुआ। लेकिन भारी भीड़ के चलते काउंटर की संख्या बढ़ाने की व्यवस्था भी नाकाफी साबित हुई। पूरे दिन अव्यवस्था की स्थिति बनी रही।ग्रामीणों की भारी भीड़ को देखते हुए बीडीओ वैभव शुक्ला ने कहा कि अब आवेदन जमा करने के लिए नई व्यवस्था बनाई जा रही है।

 

 

मीरगंज अंचल कार्यालय परिसर में भी शारीरिक दूरी का टूट रहा है नियम

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्टेट डेस्क :

मीरगंज : जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ रहे मामलों के बीच अब सरकारी कार्यालयों में ही सरकार के गाइडलाइन का पालन नहीं हो पा रहा है। यहां मीरगंज अंचल कार्यालय परिसर में भी शारीरिक दूरी का नियम टूट रहा है। आरटीपीएस काउंटर पर आवेदन जमा करने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है। लेकिन, शारीरिक दूरी के नियम का लोग पालन करें, इसको लेकर यहां कोई व्यवस्था नहीं की गई है। लोग भी कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति उदासीन हैं। सोमवार को मीरगंज अंचल कार्यालय परिसर में स्थित आरटीपीएस काउंडर पर आवास, जाति, राशन कार्ड के लिए आवेदन जमा करने के लिए लोगों की भीड़ लगी रही। लोग एक दूसरे से सट कर काउंटर के पास खड़े रहे। अधिकांश लोगों ने मास्क नहीं पहना था। शारीरिक दूरी का पालन करने के प्रति किसी का ध्यान नहीं था। सभी को अपना आवेदन जमा करने की जल्दी दिखी। वैसे यह स्थित यहां प्रतिदिन बनी रहती है। इसके बावजूद यहां कोरोना से बचाव के लिए जारी गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रशासनिक स्तर पर कोई व्यवस्था नहीं की गई है।

shrinarad media

Leave a Reply

Next Post

सीवान  की खबरे :  लोजपा नेत्री कुमारी मनीषा कार्यकर्तोओं के साथ रोड पर उतरी 

Tue Sep 15 , 2020
सीवान  की खबरे :  लोजपा नेत्री कुमारी मनीषा कार्यकर्तोओं के साथ रोड पर उतरी श्रीनारद मीडिया, सीवान  (बिहार ) सिवान।जस्टिस फार सुशांत, जस्टिस फार कंगना रनौत व जस्टिस फार मदन शर्मा को ले सोमवार को लोजपा कार्यकर्ता लोजपा नेत्री कुमारी मनीषा के नेतृत्व में सड़क पर उतरे। इस दौरान दरौली […]
error: Content is protected !!