भारत ने रखा मलेरिया मुक्त होने का लक्ष्य, WHO की रिपोर्ट में इतने फीसद आई कमी

भारत ने रखा मलेरिया मुक्त होने का लक्ष्य, WHO की रिपोर्ट में इतने फीसद आई कमी

श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क

भारत में हर साल करीब 3 लाख से ज्यादा लोगों की मौत मलेरिया से हो जाती है। मलेरिया से बचने के लिए भारत ने इसे पूरी तरह से खत्म करने का लक्ष्य रखा है। भारत ने 2027 तक मलेरिया मुक्त और 2030 तक मलेरिया को जड़ से खत्म करने का लक्ष्य रखा है। विश्व मलेरिया दिवस (World Malaria Day) यानी 25 अप्रैल को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने ‘राष्ट्रीय मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम का आयोजन किया।

भारतीय चिकित्सा चिकित्सा अनुसंधान (ICMR) ने भारत से 2027 तक मलेरिया को मुक्त करने और 2030 तक मलेरिया को पूरी तरह से खत्म करने का लक्ष्य रखा है। मलेरिया के खतरों को बताते हुए ICMR ने कहा कि मलेरिया से निपटने के लिए समय समय पर टेक्निकल, फाइनेंसशियल, ऑपरेशन और प्रशासनिक समस्याओं में उतार चढ़ाव देखे गए हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक विश्व मलेरिया रिपोर्ट के अनुसार 2018 के दौरान भारत में 2016 के मुकाबले 2017 में मलेरिया के मामलों में 24 फीसद की कमी पाई गई है। रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि मलेरिया पर नियंत्रण पाने के लिए भारत का खर्च दक्षिण पूर्व एशिया में सबसे कम है।

राष्ट्रीय मलेरिया नियंत्रण कार्यक्रम के दौरान विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के डायरेक्टर जनरल डॉ. टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस ने कहा कि मलेरिया को खत्म करने के लिए व्यापक तरीका अपनाना होगा। खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में मलेरिया को लेकर लोगों में जागरुकता फैलाने की अधिक आवश्यकता है। वहीं, डॉ. टेड्रोस ने ये भी बताया कि वेक्टर कंट्रोल मेजर के तहत मलेरिया का जल्द पता लगाया जा सकता है, और इलाज भी किया जा सकता है।

Leave a Reply