कोरोना के दहशत से मीट कारोबार ठप, बैगन कद्दू के तरफ लोगों का रूझान

कोरोना के दहशत से मीट कारोबार ठप, बैगन कद्दू के तरफ लोगों का रूझान

श्रीनारद मीडिया‚  आर्यन सिंह‚ राजपूत‚ सीवान (बिहार)

कोरोना वायरस के दहशत से मांस-मछली का कारोबार काफी मंदा हो गया है। खाने से परहेज करने के चलते मुर्गे के रेट में 40 से 60 रुपये किलो तक गिरावट आ गयी है। इससे मटन, चिकन और बिरयानी बेचने वालों का धंधा भी चौपट हो गया है। एक सप्ताह से ग्राहकों की संख्या लगातार कम हो रही है।पिछले महीने से चीन में कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है। अब तक वहां पर हजारों लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं एक हजार के करीब लोगों की मौत हो चुकी है। कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर ऐसी खबरे तेजी से चल रही है, कि मांस खाने के चलते चीन में यह रोग फैला है। ऐसे में लोगों से मांस, मुर्गा, मछली आदि खाने से परहेज करने की सलाह दी जा रही है। शुरू में लोगों ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। लेकिन चीन में मौतों और पीड़ितों का आंकड़ा बढ़ने के साथ ही कोरोना वायरस को लेकर लोगों में दहशत बढ़ने लगी है। इस जानलेवा बीमारी से लोगों में भय व्याप्त हो गया है और इसका असर मांस-मछली के बाजार पर पड़ने लगा है। ग्राहकों के खाने से परहेज करने से एक

[wds id=”3″]

सप्ताह से इस धंधे पर मंदी की मार पड़ने लगी है। बाजार में मांस, मुर्गा, मछली को कोरोना वायरस से जोड़कर चर्चा होने लगी है। कोरोना के दहशत का सबसे अधिक असर मुर्गे के कारोबार पर पड़ा है। बाजार में मुर्गे का मीट 40 से 60 रुपया किलो तक कम हो गया है।हालांकि बकरे के मांस की बिक्री पर भी कोरोना का भय नहीं दिख रहा है। और इसके ग्राहकों में भी कमी नहीं आयी है। शहर के मीट, मछली मार्केट के अधिकांश कारोबारी यह मानने लगे हैं कि कोरोना के चलते उनकी बिक्री में 30 से 40 फीसदी तक कमी आई है। इस सीजन में मछली की काफी मांग रहती है। लेकिन कुछ दिनों से मांग कम होने से 350 से 400 रुपया किलो तक बिकने वाली मछली का दाम घटकर 200 से 250 रुपया किलो हो गया है।

बिरियानी बेचने वाले दुकानदारों का धंधा चौपट।

कोरोना वायरस के भय ने मटन, चिकन एवं विरयानी के धंधे को चौपट सा कर दिया है। लोग होटलों मे पहले की अपेक्षा इसकी कम डिमांड कर रहे हैं। करीब एक साल से जिले में दर्जनों की संख्या में विरयानी की दुकानें खुली हैं। लेकिन एक सप्ताह से उनकी बिक्री मे काफी गिरावट आयी है। दुकानदार ने बताया कि पहले 15-20 किलो बिरयानी बेचते थे। लेकिन अब 4-5 किलो भी मुश्किल से बिक रहा है।

shrinarad media

Leave a Reply

Next Post

 वाराणसी की खबरें :   पत्रकारिता की आड़ में कर रहा था असलहों की तस्करी‚ गिरफ्तार

Sat Mar 14 , 2020
वाराणसी की खबरें :   पत्रकारिता की आड़ में कर रहा था असलहों की तस्करी‚ गिरफ्तार श्रीनारद मीडिया ब्यूरो प्रमुख / सुनील मिश्रा वाराणसी (यूपी) वाराणसी / पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन पर सुबह जीआरपी पुलिस ने प्लेटफॉर्म 3/4 पर एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया जो शहर में पत्रकारों के […]
error: Content is protected !!