अब निजी अस्पतालों में भी लगेगा नि:शुल्क कोविड-19 का टीका, ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन प्रारंभ

अब निजी अस्पतालों में भी लगेगा नि:शुल्क कोविड-19 का टीका, ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन प्रारंभ

०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow
०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow

• 3 मार्च से सभी सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों परटीकाकरण
• तीन तरीकों से करा सकते है रजिस्ट्रेशन
• 60 या उससे ऊपर तथा 45 से 59 वर्ष के गंभीर रोगों से ग्रसित व्यक्तियों को मिलेगा टीका

श्रीनारद मीडिया‚ पंकज मिश्रा‚ छपरा (बिहार):

छपरा  जिले में तीसरे चरण के कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरूआत सोमवार से की गयी। तीसरे चरण में सीनियर सिटीजन यानी 60 साल से अधिक उम्र के व्यक्तियों तथा 45 से 59 साल के वैसे लोगों को टीका देने का निर्णय लिया है जो किसी गंभीर रोग से ग्रसित हैं।कोविड-19 का टीकाकरण सरकारी के अलावा निजी अस्पतालों में भी होगा. सरकारी अस्पतालों में जहां कोरोना के टीके मुफ्त में लगेंगे। वहीं निजी अस्पतालों में भी लोगों को अब शुल्क नहीं देना होगा। इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति ने निर्देश जारी किया है। अब आयुष्मान भारत योजना के तहत सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में टीकाकरण किया जायेगा। जहां पर लाभार्थियों को बिना किसी शुल्क के टीके लगाए जाएंगे . सारण जिले में फिलहाल एक निजी अस्पताल मीरा हॉस्पीटल को टीकाकरण के लिए चिन्हित किया गया है। वहीं इसके अलावा प्रथम दिन सदर अस्पताल में भी तीसरे चरण के टीकाकरण की शुरूआत की गयी है। एक मार्च से आम लोगों को टीकाकरण के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो गयी है।

नि:शुल्क टीकाकरण के लिए बिहार का निवासी होना अनिवार्य:
जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम अरविन्द कुमार ने बताया निजी अस्पालों में वैसे नागरिकों को नि:शुल्क टीका दिया जायेगा जो मूल रूप से बिहार राज्य के निवासी है। आयुष्मान भारत योजना के तहत रजिस्ट्रर्ड निजी अस्पतालों में ही यह सुविधा मिलेगी। वैक्सीन का शुल्क राज्य सरकार के द्वारा वहन किया जायेगा।

रजिस्ट्रेशन के पहचान पत्र है अनिवार्य:

सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कोरोना वैक्सीन लगवाने के इक्छुक लोग अपना रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन या ऑनसाइट भी करवा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए सरकार द्वारा निर्गत पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड होने चाहिए. साथ ही मोबाइल फोन भी होना चाहिए. मोबाइल फोन पर आए ओटीपी को कोविन पोर्टल 2.0 पर फ़ीड करना होगा। रजिस्ट्रेशन के समय किस तारीख को और कहां वैक्सीन लेना है यह खुद तय कर सकते हैं।

तीन तरीकों से करा सकते है रजिस्ट्रेशन:
• कोविन पोर्टल
• ऑनसाइट पंजीकरण के लिए चिन्हित निजी अस्पताल
• आरोग्य सेतु एप के माध्यम से

45 से 60 साल के हैं तो ऐसे मिलेगी वैक्सीन:
तीसरे चरण में उन्हीं लोगों को वैक्सीन दी जायेगी जो 60 साल से ऊपर के हैं या 45 साल से ऊपर जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं। डायबिटीज, हाइपरटेंशन, कैंसर, दिल, गुर्दा, फेफड़ों से जुड़ी बीमारियां, किडनी से जुड़ी बीमारियां एवं एचआइवी समेत 20 बीमारियों को शामिल किया गया है। इस उम्र के लोगों को अपनी बीमारी का सर्टिफिकेट से जुड़ा डॉक्टर पर्चा दिखाना होगा। यह सर्टिफिकेट भी रजिस्टर्ड अस्पताल या रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर डॉक्टर के ही मान्य होंगे।

एक मोबाइल नंबर से परिवार के चार सदस्य हो सकेंगे निबंधित:

एक मोबाइल नंबर से परिवार के चार सदस्य ऑनलाइन या ऑनसाइट निबंधित हो सकेंगे। निबंधन हेतु इच्छुक व्यक्ति के पास मोबाइल नंबर एवं सरकार द्वारा अनुमान्य पहचान पत्र होना अनिवार्य है। यदि ऑनलाइन निबंधन किया जाता है तो उनके मोबाइल पर ओटीपी आएगा, जिसकी प्रविष्टि के बाद कोविन-2.0 पोर्टल पर सफलतापूर्वक पंजीकरण हो पाएगा। पंजीकरण के बाद पोर्टल पर लाभार्थी अपने निकटतम कोविड टीकाकरण केंद्र का चयन कर सकते हैं। साथ ही उपलब्ध स्लॉट में से अपने लिए टीकाकरण की तिथि भी निर्धारित कर सकते हैं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!