आज ही के दिन  दुनिया को पता चला कि आतंकवाद मानवता के लिए कितना बड़ा खतरा है : सुमो

आज ही के दिन  दुनिया को पता चला कि आतंकवाद मानवता के लिए कितना बड़ा खतरा है : सुमो

श्रीनारद मीडिया‚  पटना (बिहार):

सुशील मोदी  ने  ट्वीट किया है की  संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में भारत ने जम्मू-कश्मीर पर पाकिस्तानी दुष्प्रचार का न केवल जोरदार खंडन किया, बल्कि उसे यह सच कुबूल करने को बाध्य किया जम्मू-कश्मीर एक भारतीय राज्य है।
भारतीय प्रतिनिधि दल ने मानवाधिकार की आड़ लेकर देश के आंतरिक मामलों में दखल देने और मुद्दे का अन्तरराष्ट्रीयकरण करने की महमूद कुरैशी की कोशिश को जिस मजबूती के साथ नाकाम किया, उसके लिए विदेश मंत्रालय को बधाई ।
राहुल गांधी और उनकी पार्टी के समर्थकों ने इस कूटनीतिक विजय पर चुप्पी क्यों साध ली?

अमेरिका के ट्विन टावर पर आतंकी हमले ( 9/11) की आज बीसवीं बरसी है और यही वह काला दिन था, जब दुनिया को पता चला कि आतंकवाद मानवता के लिए कितना बड़ा खतरा है।
भारत इसकी पीड़ा 1992 के बाद से मुम्बई, दिल्ली, गया और पटना तक कई शहरों में हुए सीरियल ब्लास्ट के रूप में झेलता रहा, इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद के विरुद्ध विश्व जनमत मजबूत करने को भारतीय विदेश नीति के एजेंडे में प्रमुखता से शामिल किया।

 

9/11 के मास्टरमाइंड लादेन को पनाह देने वाले पाकिस्तान को दुनिया में अलग-थलग कर पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले भारत ने अपना कूटनीतिक लोहा मनवाया।
वोटबैंक की राजनीति में डूबी कांग्रेस के लिए “लादेन जी” और ” मसूद साहब” देशहित से ऊपर हैं। आज भी कांग्रेस और महागठबंधन के लिए मानवाधिकार का हनन करने वाला आतंकवाद कोई बड़ा मुद्दा नहीं है।

Leave a Reply