पुलिस ने असम की एक नाबालिग लड़की को मुक्त कराया

पुलिस ने असम की एक नाबालिग लड़की को मुक्त कराया

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्‍टेट डेस्‍क:

मोतिहारी:शहर के गांधी वार्ड नंबर नौ मोहल्ले में मंगलवार को छापेमारी कर पुलिस ने असम की एक नाबालिग लड़की को मुक्त कराया है। साथ ही उसे शादी का झांसा देकर पिछले एक माह से यौन शोषण करने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। इसकी जानकारी रक्सौल थानाध्यक्ष सह पुलिस इंस्पेक्टर अजय कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि गुप्त सूचना पर छापेमारी की गयी। पुलिस को दिए आवेदन में बताया है कि अबरार अंसारी उर्फ कुणाल इंकार से शादी की बात करने पर वह इंकार करता था। बताया है कि वह अपने चचेरे भाई के साथ दिल्ली में काम करती थी। मां की तबीयत खराब होने की सूचना पर वह असम अपने घर जाने के लिए बस स्टैंड पर पहुंची। बस स्टैंड पर ही अबरार अंसारी उर्फ कुणाल व उसका एक दोस्त पिंटू मिश्रा मिले। दोनों से बात ही बात पर दोस्ती हुई।उसके साथ दोनों युवक उसके घर असम छोड़ने गये। वहां से दोनों युवक वापस लौट गये। फिर अबरार से मोबाइल पर उससे सम्पर्क होता रहा। दोनों चैटिंग करते रहे। दो सप्ताह बाद पुन: अबरार असम पहुंचा व मोबाइल से फोन कर लड़की को रेलवे स्टेशन पर आने को कहा। उसके रेलवे स्टेशन पहुंचने पर अबरार ने शादी का झांसा देकर रक्सौल लेकर चला आया। यहां आने पर उसे अपने दोस्त पिंटू कुमार मिश्रा के घर 30 जनवरी को लाकर रखा।लड़की ने बताया कि तब से बिन ब्याह किये वह लगातार उसके साथ मुंह काला करता रहा। जब जब वह शादी की बात करती अबरार टालमटोल कर देता। उसके इस दुष्कर्म में उसका दोस्त पिंटू भी साथ देता रहा। इस घिनौने खेल का खुलासा हुआ, जब पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि असम की एक नाबालिग लड़की को बेचने के लिए उत्तराखंड फाजिलपुर, मेहरूला, रूद्रपुर उधमपुर के एक युवक अबरार अंसारी उर्फ कुणाल गांधीनगर मोहल्ले में छिपा कर रखा है। सूचना पर रक्सौल पुलिस पहुंची व नाबालिग लड़की को मुक्त कराते मुख्य आरोपी अबरार व घर मालिक पिंटू कुमार मिश्रा को गिरफ्तार कर लिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि लड़की के आवेदन पर एफआईआई दर्ज की गयी है। लड़की को मेडिकल व 164 के बयान के लिए मोतिहारी भेज दिया गया है। यह अभी स्पष्ट नहीं हुआ है कि लड़की से गैंगरेप हुआ है या अबरार ने ही उसका यौन शोषण किया है। मेडिकल रिपोर्ट के बाद इस मामले से पर्दा हटेगा।

सरेंडर के बाद सरकारी योजनाओं का लाभ ले रहे नक्सली का फिर से आपराधिक गतिविधियों में संलिप्तता पाये जाने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया

श्रीनारद मीडिया, राकेश सिंह, स्‍टेट डेस्‍क:

मोतिहारी:सरेंडर के बाद सरकारी योजनाओं का लाभ ले रहे नक्सली का फिर से आपराधिक गतिविधियों में संलिप्तता पाये जाने पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वह पीपरा थाने के बेदीबन मधुबन गांव का निवासी है। बेतिया व बगहा में भी लूट की घटनाओं को अंजाम दिया है। पुलिस टीम उससे पूछताछ कर रही है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार सरकार की ओर से योजना चली थी कि जो नक्सली सरेंडर करेंगे उनके जीवय यापन के लिये पेंशन या व्यवसाय करने के लिये बैंक से लोन दिया जायेगा। इस योजना के तहत एक दशक पूर्व कई नक्सलियों ने सरेंडर किया था। उन्हीं में से बेदीबन मधुबन का एक नक्सली भी है। सरेंडर के बाद सरकारी योजनाओं के लाभ के साथ पेंशन का भी उठाव करता था। इस बीच पहले तो वह बेतिया व बगहा में लूट की घटनाओं को अंजाम देने लगा। पुलिस को शक भी नहीं होता था। जिले में लूट की घटनाओं में पुलिस ने जब पड़ताल की तो उसका नाम सामने आने लगा। पुलिस को जब सबूत हाथ लगे तो उसे गिरफ्तार कर लिया। उसके निशानदेही पर पुलिस छापेमारी जारी है।

shrinarad media

Leave a Reply

Next Post

जमीनी विवाद में हुई मारपीट मे दो महिलाओं सहित तीन लोग जख्‍मी

Thu Feb 14 , 2019
जमीनी विवाद में हुई मारपीट मे दो महिलाओं सहित तीन लोग जख्‍मी श्रीनारद मीडिया, सचिन पांडेय, सिसवन,सीवान(बिहार): सीवान जिले के सिसवन थाने के गंगापुर सिसवन गांव में बुधवार को दो पक्षों के जमीनी विवाद में हुई मारपीट मे दो महिलाओं सहित तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।घायलों में […]
error: Content is protected !!