सीवान के पुरानी बजाजी मोहल्ले के इंदु राव गली कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद हुआ  सील  

सीवान के पुरानी बजाजी मोहल्ले के इंदु राव गली कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद हुआ  सील

श्रीनारद मीडिया, सीवान  (बिहार )

 

सिवान : शहर के वार्ड संख्या 22 के पुरानी बजाजी मोहल्ले के इंदु राव गली में रविवार को दंपति की कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सोमवार को जिला प्रशासन के निर्देश पर नगर परिषद द्वारा कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए क्षेत्र को सील कर दिया गया। नगर परिषद कर्मियों द्वारा बांस बल्ली लगाकर सभी गलियों को सील करते हुए आवागमन अवरुद्ध कर दिया गया। मोहल्ले की गलियों को सील करके पुलिस की तैनाती करने से आम लोगों की परेशानी बढ़ गई है। इस दौरान डीएम अमित कुमार के निर्देश पर कोरोना पॉजिटिव के घरों और उस घर से सटे अन्य घरों व गलियों को सैनेटाइज किया गया। बता दें कि दोनों पति-पत्नी की जांच के लिए शनिवार को सैंपल लिया गया था। सैंपल की जांच सदर अस्पताल में लगे ट्रू नेट मशीन से किया गया था, जिसकी जांच रिपोर्ट रविवार को आई। जांच रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद अन्य स्थानीय लोगों में खलबली मच गई थी। जानकारी के अनुसार महिला सात माह की गर्भवती है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इसकी पुष्टि के बाद प्रशासनिक पदाधिकारियों और मेडिकल की टीम उसके घर पहुंची और आइसोलेशन वार्ड में दोनों को भर्ती करा दिया गया था। वहीं दूसरी ओर हसनपुरा प्रखंड के विभिन्न पंचायतों के गांवों में कोरोना वायरस से व्यक्तियों के संक्रमित होने की सूचना पर भारत सरकार एवं राज्य सरकार के मार्गदर्शन के आलोक में सदर अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा हसनपुरा प्रखंड के फलपुरा पंचायत के भीखपुरवा के वार्ड संख्या आठ, पियाउर पंचायत के बासाबतबगर के वार्ड संख्या नौ, अरंडा पंचायत के अरंडा टोला नवादा के वार्ड संख्या दो तथा गायघाट पंचायत के मितवार गांव के वार्ड संख्या तीन को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए सील कर दिया गया है।

 

जिले में कोरोना संक्रमण अपने आक्रमण की धार को लगातार ही पैनी कर रहा है

श्रीनारद मीडिया, सीवान  (बिहार )

सिवान : अधिकांश मामलों में पराजित होने के बाद भी जिले में कोरोना संक्रमण अपने आक्रमण की धार को लगातार ही पैनी कर रहा है। सोमवार को भी जिले के गोरेयाकोठी प्रखंड में पांच तथा नौतन व सिसवन प्रखंड में एक-एक और नए केस सामने आए। इससे जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 468 हो गई है। हालांकि राहत की बात है कि अबतक 400 संक्रमितों ने कोरोना को जंग में हराकर अपनी सामान्य जिदगी में वापस आ चुके है। जिले में लगातार पॉजिटिव केस सामने आने से प्रशासनिक महकमा से लेकर आम लोगों में भी हड़कंप मचा हुआ है। वहीं जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से दो लोगों की मौत भी हो चुकी है। जबकि वर्तमान समय में 66 एक्टिव मरीजों का इलाज जिला मुख्यालय में बनाए गए आइसोलेशन सेंटर में चल रहा है। सिविल सर्जन डा. यदुवंश कुमार शर्मा ने बताया कि जिन लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वे सभी रेड जोन से आए थे। सभी संक्रमित मरीजों को आइसोलेशन सेंटर में भर्ती कर चिकित्सकों की निगरानी में इलाज किया जा रहा है।जिले में कोरोना से आम लोगों का जंग लगातार जारी है। अबतक आम लोगों का हौसला कोरोना पर भारी पड़ता दिख रहा है। जिले में संक्रमित हुए कुल 468 लोगों में से 400 ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं। जबकि दो लोगों की पूर्व में हीं कोरोना से मौत भी हो चुकी है। वर्तमान समय में जिले में कोरोना के 66 एक्टिव मरीज है। इस प्रकार अबतक 75 से 80 प्रतिशत के करीब लोग कोरोना को मात देने में सफल हुए है।

 

 

 

Leave a Reply