कर्नाटक के लिए नया नहीं है सेक्स स्कैंडल,क्या है नया मामला?

कर्नाटक के लिए नया नहीं है सेक्स स्कैंडल,क्या है नया मामला?

०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow
०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow

श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क

कर्नाटक में एक बार राजनीति के केंद्र में एक सेक्स स्कैंडल है। कर्नाटक के जलसंसाधन मंत्री रमेश जारकीहोली को एक सेक्स टेप सामने आने के बाद इस्तीफा देना पड़ा है। उनके खिलाफ पुलिस को शिकायत दी गई है जिसमें कहा गया है कि जारकीहोली ने एक महिला का नौकरी के नाम पर यौन शोषण किया। हालांकि, कर्नाटक की राजनीति में सेक्स स्कैंडल और पॉर्न की एंट्री नई नहीं है।

पिछले महीने ही कांग्रेस पार्टी को उस समय शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा था जब उसके एक नेता प्रकाश राठौड़ विधान परिषद में बैठकर मोबाइल पर कथिततौर पर अश्लील क्लिप्स देखते हुए पाए गए। हालांकि बाद में राठौड़ ने सफाई दी कि वह क्लिप देख नहीं रहे थे बल्कि अवांछित मैसेज डिलीट कर रहे थे।

2019 में बीजेपी के अरविंद लिंबावल्ली ने पुलिस को दी एक शिकात में कहा था कि उनके राजनीतिक प्रतिद्वंदियों ने एक अश्लील और आपत्तिजनक फेक वीडियो सोशल मीडिया पर सर्कुलेट किया है। वायरल हुए वीडियो क्लिप में उन्हें एक पार्टी कार्यकर्ता के साथ आपत्तिजनक हालत में देखा जा सकता था।

इसके अलावा, कांग्रेस नेता एचवाई मेती, बीजेपी विधायक रेणुकाचार्य और बीजेपी के एसए रामदार पर भी सेक्स डिमांड के आरोप लगे थे। 2019 में सामने आए इस मामले में कहा गया कि ये नेता किसी उगाही गिरोह के झांसे में आ गए होंगे, जिन्होंने उनके वीडियो को वायरल कर दिया।

कहानी यहीं खत्म नहीं होती। साल 2012 में तीन बीजेपी नेता लक्ष्मण सावदी, कृष्णा पालेमार और सीसी पाटिल कर्नाटका विधानसभा में पॉर्न देखते हुए कैमरे में कैद हो गए थे। वे उस समय मंत्री थे। सावदी और पाटिल तो मौजूदा येदियुरप्पा सरकार में भी मंत्री हैं। सावदी कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री भी हैं।

सेक्स डेप केस में फंसने के बाद कर्नाटक के जलसंसाधन मंत्री रमेश जारकीहोली ने इस्तीफा दे दिया है। सेक्स टेप के सामने आने से मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और भारतीय जनता पार्टी को भी असहज स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। इस टेप में मंत्री महिला से यह भी कहते हुए सुने जा सकते हैं कि ‘येदियुरप्पा ने बहुत ज्यादा भ्रष्टाचार किया है।’ वहीं वह कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम सिद्धारमैया की तारीफ भी करते हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जारकीहोली इस टेप में महिला से कहते हैं कि कांग्रेस के नेता सिद्धारमैया ‘अच्छे’ थे। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बहुत ज्यादा भ्रष्टाचार किया है। कभी कांग्रेस के नेता रहे जारकीहोली को यह कहते हुए भी सुना जा सकता है कि केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी मुख्यमंत्री बनेंगे।

मंत्री और महिला में बातचीत के कुछ अंश:

महिला: बेलगाम में मराठी और कन्नड़ बहुत लड़ते हैं, सही है?

जारकीहोली: मराठी अच्छे लोग हैं। ****** कन्नड़ को कोई काम नहीं है।

जारकीहोली: सिद्धारमैया अच्छे हैं। येदियुरप्पा ने बहुत ज्यादा भ्रष्टाचार किया है।

महिला: आप हमेशा दिल्ली जाते हो। आप मुख्यमंत्री बनोगे?

जारकीहोली: प्रह्लाद जोशी मुख्यमंत्री बनेंगे।

जारकीहोली का टेप सामने आने के बाद प्रदेश कांग्रेस प्रमुख डीके शिवकुमार ने येदियुरप्पा को घेरा और कहा कि उन्हें भ्रष्टाचारा के आरोपों पर जवाब देना चाहिए, जो वीडियो में जारकीहोली ने लगाए हैं। शिवकुमार ने कहा, ”यह केवल एक सेक्स स्कैंडल नहीं है। मंत्री वीडियो में कहते हैं कि मुख्यमंत्री भ्रष्ट हैं। सीएम को इसका जवाब देना है। गेंद अब कोर्ट के पाले में है।”

कथित सेक्स टेप में रमेश किसी अज्ञात महिला के साथ अंतरंग होते दिख रहे हैं। इन क्लिप को कन्नड़ समाचार चैनलों में प्रसारित किया गया था। सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश कल्लाहल्ली ने मंगलवार को रमेश के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उन्होंने नौकरी पाने की एक इच्छुक महिला का कथित रूप से यौन उत्पीड़न किया और इस बारे में कुछ भी बताने पर उसे और उसके परिवार को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी।

रमेश ने मंगलवार रात को आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए संवाददाताओं से कहा था कि वह ‘सकते में हैं और वीडियो शत प्रतिशत फर्जी है।’ उन्होंने मामले की जांच की मांग की। बढ़ते दबाव के बीच रमेश ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। गुरुवार से शुरू हो रहे राज्य के बजट सत्र से पहले इस प्रकार के आरोप लगने के कारण बी एस येदियुरप्पा नीत भाजपा सरकार को काफी शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है। पहले कांग्रेस में शामिल रहे रमेश कांग्रेस-जद(एस) गठबंधन सरकार को गिराने में अहम भूमिका निभाने वाले विधायकों में शामिल थे, जिसके बाद भाजपा राज्य में सत्ता में आई।

Leave a Reply

error: Content is protected !!