श्री गुरूनानक सदभावना यात्रा का सैक्टर 2 में हुआ भव्य स्वागत

श्री गुरूनानक सदभावना यात्रा का सैक्टर 2 में हुआ भव्य स्वागत

श्रीनारद मीडिया‚ हरियाणा संपादक – वैद्य पण्डित प्रमोद कौशिक ( छाया – सुकान्त पण्डित )

यात्रा का मुख्य उददेश्य है सामाजिक संदेशों को लोगों तक पहुंचाना।

हरियाणा कुरुक्षेत्र, 10 नवंबर : – श्री गुरूनानक देव जी 550 वें प्रकाश उत्सव पर आयोजित गुरूनानक सदभावना यात्रा सैक्टर 2 पहुंची। समाज सेवी लखविन्द्र पाल सिंह ग्रेवाल, शिरोमणि कमेटी के सदस्य तेजिंदर पाल सिंह दिल्लो, सेक्टर 2 वेल्फ़ेर एसोसिएशन व जोगा सिंह ने इस यात्रा का स्वागत किया व अपने हाथ से गुरु नानक देव जी के 550 वे प्रकाश पर्व को समर्पित पौधा लगाया। इस मौक़े पर गुरु नानक देव जी की संदेश को दुनिया भर में ले जाने के इरादे से सामाजिक संस्था नैशनल इंटेग्रेटेड फ़ोरम आफ आर्टिस्ट्स एंड एक्टिविस्टस ( निफ़ा ) द्वारा शिरोमणि गतका फ़ेडरेशन आफ इंडिया के सहयोग से शुरू किए गए इस अभियान में दोनो संस्थाओं के प्रतिभागी अब तक भारत, पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश व श्रीलंका में उन स्थानो पर जा चुके हैं जहाँ सिख धर्म के बानी व 15 वी सदी के महान सुधारक गुरु नानक देव जी अपनी चार उदासियों में गए थे। यात्रा के मुख्य संयोजक निफ़ा अध्यक्ष प्रीतपाल सिंह पन्नु ने बताया कि 20 जुलाई को शुरू की गई गुरु नानक सद्भावना यात्रा का मुख्य उद्देश्य गुरु जी के जनम के 550 वे प्रकाश पर्व में उनके सामाजिक संदेशों को आम लोगों तक पहुँचाना था जिसमें गुरु कृपा से काफ़ी सफलता प्राप्त हुई है। यात्रा के पूरे रूट में 55000 पौधे लगाने व हर पौधे को गुरु नानक देव जी के जनम स्थान ननकाना साहेब से लई गई मिट्टी से सींचने के संकल्प को देश भर में ओर अन्य देशों में भी भरपूर सहयोग मिला व जहाँ यात्रा के दौरान पेड़ लगाए गये वहीं बाद में यात्रा मार्ग पर साथ जुड़ी गुरुद्वारा कमेटियों, धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं व निफ़ा शाखाओं ने भी गुरु नानक सद्भावना यात्रा के प्रतिभागियों से प्राप्त जनम भूमि की मिट्टी व जल से पौधे लगाकर उनकी फ़ोटो व विडीओ निफ़ा को भेजी गई। रास्ते भर में नुक्कड़ नाटकों व ब्रोशर के माध्यम से भी गुरु नानक देव जी द्वारा औरत की माली हालत, जाती पाती व धर्म के आधार पर भेदभाव, नशे की लत, समाज में फैले वहम, भ्रम ओर पाखंड के ख़िलाफ़ उठाई गई क्रांतिकारी आवाज़ व उपदेश को आम जन तक पहुँचाया जा रहा है। यात्रा अरब देशों जिनके इराक़ व अफगनिस्तान भी शामिल हैं में गुरु जी के स्थान पर भी जाएगी व यात्रा का समापन नए कोरिडोर से होकर करतारपुर साहेब में किया जाएगा व समापन के अवसर पर करतारपूर साहेब (पाकिस्तान) ब डेरा बाबा नानक (भारत) में एक एक पौधा गुरु जी द्वारा दिए गये प्रेम भाईचारे के संदेश के प्रतीक के रूप में लगाया जाएगा जिसमें यात्रा के दौरान गुरु जी के हर पावन स्थान से इक_ी की गई मिट्टी व जल डाला जाएगा। तत्पश्चात् यात्रा के साथियों ने ब्रह्मा सरोवर के पास गुरु नानक देव जी के ऐतिहासिक स्थान गुरुद्वारा सिद्द बटी में माथा टेका व पवित्र स्थान की जल ओर मिट्टी को हासिल किया जिससे यात्रा के सम्पन्न पर करतारपुर साहेब व डेरा बाबा नानक में लगने वाले प्यार भाईचारे के प्रतीक दो पोधो को गुरु जी के अन्य स्थानो से एकत्रित की गई जल व मिट्टी के साथ मिलाकर सींचा जाएगा। लखविन्द्र पाल सिंह ने कहा कि आज उन्हें व सेक्टर 2 की वेल्फ़ेर असोसीएशन को गुरु नानक सद्भावना यात्रा की ओरगुरु जी की जनम भूमि की मिट्टी व जल भेंट किया गया है उस से 1द्ग अपने साथीयो के साथ मिलकर कुरुक्षेत्र में ओर पौधे लगाएँगे जिन्हें इस पवित्र मिट्टी व जल से सींचा जाएगा।
सदभावना यात्रा का सैक्टर 2 में पहुंचने पर अभिन्नद करते एवं पौधारोपण करते आयोजक।

Leave a Reply