सीवान की खबरें : पुलिस ने एसबीआइ के सीएसपी लूटकांड का किया  पर्दाफाश 

 

सीवान की खबरें : पुलिस ने एसबीआइ के सीएसपी लूटकांड का किया  पर्दाफाश

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

सीवान जिले के गुठनी थाना क्षेत्र के टेकनिया स्थित एसबीआइ के सीएसपी लूटकांड का पर्दाफाश पुलिस ने कर दिया है। इस घटना को अंजाम देने वाले मुख्य बदमाश गुठनी के सरकारी बंगला निवासी विशाल सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। लूटकांड में प्रयुक्त बाइक भी बरामद की गई है। पुलिस अधीक्षक अभिनव कुमार ने इस कांड के उद्भेदन और बदमाश को गिरफ्तार करने के लिए मैरवा थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह, दरौली थानाध्यक्ष संजीव कुमार, गुठनी थानाध्यक्ष मनोरंजन कुमार की टीम मैरवा प्रभाग के पुलिस इंस्पेक्टर अरविद कुमार के नेतृत्व में गठित की थी। टीम ने मैरवा मझौली रोड के एक मैरिज हॉल के पास से गुठनी थाना क्षेत्र के टेकनिया सीएसपी लूट कांड अंजाम देने वाले अपराधी को गिरफ्तार कर लिया। यह गिरफ्तारी ड्रामाई अंदाज में की गई। पुलिस सादे वेश में मैरिज हॉल के आसपास खड़ी थी। पुलिस को सूचना थी कि इस कांड का अपराधी शादी समारोह में शामिल होने आ रहा है। जैसे ही वह शादी समारोह में शामिल होने पहुंचा पुलिस ने उसे घेरने की कोशिश की, लेकिन पुलिस से घिरता देख वह भागने लगा। उसे दौड़ाकर पुलिस ने धर दबोचा।

 

महाराजगंज में मैट्रिक परीक्षा की तैयारी पूरी

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा 17 फरवरी से शुरू हो रही मैट्रिक परीक्षा की तैयारी को ले अनुमंडल कार्यालय में शुक्रवार को एसडीओ मंजीत कुमार की अध्यक्षता में केंद्राधीक्षक की बैठक हुई। एसडीओ ने कहा कि इस बार महाराजगंज अनुमंडल मुख्यालय में सात परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। एसडीओ ने कहा कि परीक्षा केंद्रों पर एक भी चिट पुर्जा नहीं पाया जाना चाहिए। परीक्षा शुरू होते ही मुख्य गेट

पर ही परीक्षार्थी की तलाशी लेनी है। केंद्र के अंदर सिर्फ परीक्षाथियों को ही जाने की इजाजत होगी। उन्होंने कहा कि यदि जांच के दौरान किसी कमरे से चिट पुर्जा पाया जाता है तो संबंधित केंद्राधीक्षक एवं वीक्षक के विरुद्ध तुरंत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी केंद्रों पर सीसी कैमरा लगाया गया है। केंद्रों पर तैनात वीक्षक को आइ कार्ड लगा कर रहना होगा, वरना उन पर भी कार्रवाई होगी। एसडीपीओ हरीश शर्मा ने कहा कि सभी केंद्रों पर मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में पुलिस बल, महिला पुलिस बल तैनात किए जाएंगे। परीक्षा केंद्र के 200 गंज तक अवधि तक धारा 144 लागू रहेगी। उन्होंने कहा कि उड़नदस्ता दल का भी गठन किया गया है। सात जगह ड्रॉप गेट बनाए जाएंगे। बैठक में डीसीएलआर प्रवीण कुमार, बीडीओ नंद किशोर साह, मुकेश कुमार, डॉ. अभय कुमार, थानाध्यक्ष मनीष कुमार साह, कार्यपालक दंडाधिकारी दिवाकर प्रसाद, केंद्राक्षीक क्रमश. वीणा कुमारी, वीणा राय, पार्वती राय,खुर्शीद अंसारी, विनय शंकर पांडेय, राघव प्रसाद,रामबचन यादव, स्वास्थ्य प्रबंधक महताब अनवर,हरेंद्र कुमार, राकेश कुमार आदि उपस्थित थे।

महाराजगंज अनुमंडल मुख्यालय में सात परीक्षा केन्द्र बनाये गये

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

सीवान जिले के महाराजगंज अनुमंडल मुख्यालय में 17 फरवरी से होने जा रही मैट्रिक परीक्षा को ले सात केंद्र बनाए गए हैं।परीक्षा दो पालियों में होगी।एसडीओ मंजीत कुमार ने बताया कि गोरख सिंह महाविद्यालय,डीएवी पब्लिक स्कूल, सिहौता बंगरा उच्च विद्यालय, आरबीजीआर महाविद्यालय, एसकेजेआर उच्च विद्यालय,उमाशंकर प्रसाद उच्च विद्यालय,अनुग्रह नारायण उमाशंकर सिंह महिला महाविद्यालय को परीक्षा केंद्र बनाया गया है।

 

डीएम  ने किया शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

सीवान कलेक्ट्रेट के सभागार में डीएम रंजिता ने शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक शुक्रवार को की। इस दौरान उन्होंने मैट्रिक परीक्षा को बाधित करने के उद्देश्य से हड़ताल पर जाने वाले शिक्षकों से सख्ती से निपटने का निर्देश पदाधिकारियों को दिया। मैट्रिक परीक्षा में वीक्षण कार्य नियमित शिक्षक, उच्च विद्यालयों के शिक्षक व नवोदय विद्यालय के शिक्षक, लाइब्रेरियन सहित अन्य शिक्षकों से कराने को कहा। जिला स्तर पर डीईओ नियोजित शिक्षकों के प्रतिनिधियों व प्रखंड स्तर बीईओ को प्रखंड स्तरीय नेताओं से वार्ता कर हड़ताल में नहीं जाने के लिए प्रेरित करने को कहा गया। इसके लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी ने छात्रों के भविष्य का हवाला देते हुए विभिन्न शिक्षक संघ के पदाधिकारियों को शनिवार को कार्यालय में वार्ता के लिए आमंत्रित किया है । वहीं सभी बीईओ को प्रखंड पर नियोजन समिति की बैठक कर परीक्षा बाधित करने वाले शिक्षकों पर कार्रवाई करने का निर्णय पारित कराने का निर्देश दिया गया। यदि कोई शिक्षक परीक्षा केंद्र परीक्षा को बाधित करता है, तो शीघ्र उसपर एफआइआर की जाए। हड़ताल में नहीं जाने वाले शिक्षकों की बीईओ द्वारा एकत्र की गई सूची में शामिल नहीं होने वाले शिक्षकों को अनुपस्थित माना जाएगा। जिला व प्रखंड स्तर पर वाट्सएप ग्रुप बनाया जाएगा। ग्रुप पर हर दिन अनुपस्थित शिक्षकों की सूची जिला स्तर पर भेजी जाएगी। बैठक में उप विकास आयुक्त सुनील कुमार, एसडीओ संजीव कुमार, डीईओ चंद्रशेखर राय, डीपीओ सर्व शिक्षा दिलीप कुमार सिंह एवं सभी बीडीओ, बीईओ व विभाग के कर्मी शामिल थे।
परीक्षा अवधि में हड़ताल पर जाने वाले शिक्षकों पर ये होगी कार्रवाई
-अनुपस्थित अवधि में नो वर्क नो पे के आधार पर वेतन कटौती

– ब्रेक इन सर्विस यानी सेवा टूट

– तत्काल निलंबन की कार्रवाई मैट्रिक परीक्षा की तैयारी में जुटा जिला प्रशासन 32 केंद्रों पर 62 हजार परीक्षार्थी देंगे परीक्षा

 

पिटू वर्मा हत्याकांड का पुलिस ने   उद्भेदन कर दिया

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

सीवान जिले के मैरवा थाना क्षेत्र के मझौली रोड नई बस्ती निवासी पिटू वर्मा हत्याकांड का पुलिस ने शुक्रवार को उद्भेदन कर दिया। घटना को अंजाम देने वाले अपराधी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार बदमाश बभनौली निवासी हिमांशु कुमार है। मैरवा मझौली रोड स्थित एक मैरिज हॉल में गुरुवार की रात शादी समारोह में शामिल होने हिमांशु आया था। पुलिस को जब इसकी जानकारी मिली तो उसे गिरफ्तार करने के लिए जाल बिछाया। सादे वेश में मैरिज हॉल के आसपास पुलिस तैनात की गई,लेकिन इसकी भनक उसे लग गई। जैसे ही बरात मैरिज हॉल पर पहुंची वह भीड़ का फायदा उठाकर बाहर निकला और भागने लगा। पुलिस उसका पीछा कर पकड़ लिया। इस हत्याकांड में मृतक पिटू कुमार के पिता ने अपने दामाद मझौली रोड के चंदन कुमार को नामजद किया था। पूछताछ के आधार पर प्राप्त जानकारी के बाद पुलिस को हिमांशु की लंबे समय से तलाश थी। हत्या के डेढ़ महीने बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे :

पिटू कुमार वर्मा की हत्या के डेढ़ महीने के बाद हिमांशु पुलिस के हत्थे चढ़ सका। बता दें कि पिटू की हत्या 27 दिसंबर की रात गोली मारकर कर दी गई थी। अगले दिन सुबह शव बाबू टोला गांव के निकट सड़क के किनारे फेंका हुआ मिला। सिर और सीने पर गोली मारी गई थी। किसी का फोन आने के बाद वह अपने घर से निकला था। प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद उसके बहनोई चंदन कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

 

मैरवा के राज्य खाद्य निगम के टीपीडीएस गोदाम में रखे खाद्यान्न में गड़बड़ी को लेकर सहायक प्रबंधक पर प्राथमिकी दर्ज

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

मैरवा के राज्य खाद्य निगम के टीपीडीएस गोदाम में रखे खाद्यान्न में गड़बड़ी को लेकर सहायक प्रबंधक (एजीएम) के विरुद्ध मैरवा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराए जाने के बाद प्रखंड के जन वितरण प्रणाली डीलरों और खाद्यान्न कालाबाजारी का धंधा करने वालों में हड़कंप मच गया है। जांच आगे बढ़ी तो कई डीलर और बिचौलिए इसकी गिरफ्त में आ सकते हैं। गोदाम के स्टॉक में रखे हुए चावल की मात्रा अधिक और गेहूं कम पाए जाने के बाद प्राथमिकी राज्य खाद्य निगम के जिला प्रबंधक संजय कुमार के आवेदन पर दर्ज हो चुकी है। जांच आगे बढ़ने की उम्मीद है। जांच की आंच कहां तक पहुंचेगी फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता, लेकिन इतना तय है कि गोदाम में पाई गई अनियमितता में संलिप्तता की गहन छानबीन की जाए तो अंतरप्रांतीय स्तर पर कालाबाजारी में संलिप्त कई लोग लपेटे में आ सकते हैं। सिवान और उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती देवरिया जिले में कई फ्लावर व राइस मिल भी चल रहे हैं जो इस गोदाम से जुड़े हो सकते हैं। बता दें कि 23 अगस्त 2019 को जिला पदाधिकारी के निर्देश पर अंचलाधिकारी मैरवा अरविद प्रसाद ने मैरवा के टीपीडीएस गोदाम का औचक निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान खाद्यान्न का रखरखाव गोदाम में ठीक नहीं पाया गया था। साथ ही भौतिक सत्यापन में गोदाम में रखे बोरे में निर्धारित वजन से कम खाद्यान्न मिला। उन्होंने सहायक प्रबंधक मैरवा सुशील कुमार यादव द्वारा गोदाम में रखे खाद्यान्न का रखरखाव ठीक से नहीं किए जाने का उल्लेख किया था। निरीक्षण के उपरांत गोदाम में 3498 बोरा में गेहूं 50 किलो प्रति बोरी की दर से 1749 क्विटल तथा चावल 1408 बैग में 50 किलो प्रति बोरी की दर से 17049 क्विटल पाया गया। 27 जनवरी 2020 को राज्य खाद्य निगम सिवान कार्यालय से प्राप्त टीपीडीएस गोदाम मैरवा का माह अगस्त 2019 का भंडार पंजी का अवलोकन के उपरांत मैरवा गोदाम में 23 अगस्त 2019 को किए गए अंचलाधिकारी के भौतिक सत्यापन के आधार पर गोदाम में 191 बोरा चावल का वजन 96.64 क्विटल अधिक और गेहूं का भंडार 470 बोरे का वजन 231.97 क्विटल कम पाया गया। इसको लेकर राज्य खाद्य निगम अधीनस्थ टीपीडीएस गोदाम मैरवा के सहायक प्रबंधक सुशील कुमार यादव के विरुद्ध वर्णित अनियमितता के लिए प्राथमिकी मैरवा थाना में राज्य खाद्य निगम के जिला प्रबंधक संजय कुमार ने दर्ज कराई गई।

 

शिक्षक को मिली जान से मारने की धमकी

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

सीवान जिले के सिसवन प्रखंड मुख्यालय स्थित राजकीय कन्या मध्य विद्यालय के शिक्षक प्रदीप कुमार महतो को जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है। इस संबंध में उन्होंने सिसवन थाना, डीएम तथा एसपी को गुरुवार को आवेदन देकर अपनी जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाई है तथा अपना स्थानांतरण दूसरे विद्यालय में करने की मांग की है। शिक्षक ने अपने दिए आवेदन में कहा है कि 6 माह पहले सिसवन पेट्रोल पंप पर उनके साथ मारपीट की गई थी तथा सोने की चेन छीन ली गई थी। इस पर उन्होंने सिसवन थाने में एफआइआर दर्ज कराई थी, इसमें सकल महतो एवं उनकी पत्नी तथा पुत्रों को आरोपित किया गया था। 9 फरवरी को आरोपित के साथ हरिशंकर महतो एवं उमेश सिंह उनके दरवाजे पर जाकर गाली गलौज किए एवं जान से मारने की धमकी दी तथा 10 फरवरी को भाजपा के मंडल अध्यक्ष संजीव कुमार सिंह व उमेश कुमार विद्यालय में जाकर जबरन प्रधानाध्यापक पर अपनी दबंगई दिखाते हुए मेरी हाजिरी कटवाई। साथ ही विद्यालय आने पर मारने पीटने कि धमकी दी गई। वहीं दूसरी ओर भाजपा नेता संजीव कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षक प्रदीप विद्यालय से गायब रहते हैं जिसकी शिकायत सिसवन बीईओ से की है। उन्होंने झूठे केस में फंसाने के लिए आवेदन दिया है।

 

सीवान सदर अस्पताल में एंटी रेबीज वैक्सीन पिछले चार दिनों से है समाप्त

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

सीवान सदर अस्पताल में एंटी रेबीज वैक्सीन पिछले चार दिनों से समाप्त है और इस वैक्सीन के लिए पीड़ित रोजाना अस्पताल का चक्कर काट रहे हैं। शुक्रवार को अस्पताल में इन पीड़ितों ने ओपीडी में जमकर हंगामा किया। इसके बाद आक्रोशित अस्पताल के सामने सिवान-बड़हरिया मुख्य पथ पर आकर खड़े हो गए और आवागमन को बाधित कर प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शन की सूचना पर नगर थाना इंस्पेक्टर जयप्रकाश पड़ित मौके पर पहुंचे और आक्रोशितों को समझा बुझा कर शांत कराया। प्रदर्शन कर रहे पीड़ितों का आरोप था कि सुबह में ओपीडी में पर्ची कटा कर कतारबद्ध होकर हम सभी वैक्सीन के लिए खड़े थे। करीब तीन घंटे के इंतजार के बाद वैक्सीन मिलने वाला कक्ष जब खुला तो वैक्सीन समाप्त होने की सूचना दी गई। सुबह से लाइन में हमलोग खड़े हैं, लेकिन किसी भी कर्मी द्वारा एआरवी समाप्त होने की सूचना नहीं दी गई। सादे कागज पर वैक्सीन का विवरण दिया जा रहा है। जब प्रदर्शन किया गया तो अस्पताल प्रशासन पहुंचा और कहा गया कि वैक्सीन खत्म है। वहीं इस मामले में अस्पताल प्रबंधक एसरारुल हक ने बताया कि चार दिन से एंटी रेबिज वैक्सीन नहीं है इसके लिए मरीजों ने हंगामा किया था। हंगामा होने पर नगर थाना को सूचना दी गई। शुक्रवार की देर शाम तक वैक्सीन उपलब्ध होने की संभावना है।

 

मो. शहाबुद्दीन से जुड़े मामले में सुनवाई नहीं हो सकी

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

राजद के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन से जुड़े मामले में शुक्रवार को सुनवाई नहीं हो सकी। पूर्व सांसद से जुड़े सेशन के चार व मजिस्ट्रेट कोर्ट के तीन मामलों की सुनवाई के लिए तिथि मुकरर्र की गई थी। स्पेशल कोर्ट के मजिस्ट्रेट राघवेन्द्र कुमार पांडेय के अवकाश में रहने के कारण सुनवाई नहीं हो सकी। मालूम हो कि सेशन से जुड़े मामलों की सुनवाई के लिए प्राधिकृत सेशन जज के विगत कई तिथियों से नहीं रहने के कारण सेशन से जुड़े मामलों की सुनवाई नहीं हो रही है। अभियोजन की तरफ से स्पेशल पीपी जयप्रकाश सिंह, रघुवर सिंह व रामराज प्रसाद थे।

 

 

सीवान जिले के 43 परीक्षा केंद्रों पर सोमवार से शुरू हो रही मैट्रिक की परीक्षा तैयारी पूरी

 

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

सीवान जिले के 43 परीक्षा केंद्रों पर सोमवार से शुरू हो रही मैट्रिक की परीक्षा के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सीवान और महाराजगंज के सभी परीक्षा केंद्रों पर रविवार की शाम 5 बजे से धारा 144 लागू कर दिया जाएगा। यह 24 फरवरी को परीक्षा समाप्ति तक रहेगा। ऐसे में परीक्षा के दौरान 200 मीटर की दूरी तक के सारे फोटो स्टेट की दुकानें बंद रहेंगी। साथ ही सुबह 8 बजे से शाम 5.30 बजे तक परीक्षा केंद्र के आसपास कोई ध्वनि विस्तारक यंत्र बजाने पर रोक है। परीक्षा केंद्र के आसपास किसी भी तरह के अस्त्र व शस्त्र ले जाने पर रोक रहेगी। गौरतलब है कि इस बार 61 हजार 939 छात्र मैट्रिक की परीक्षा में शामिल होंगे। परीक्षा दो पालियों में आयोजित की गई है। प्रथम पाली सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.45 तक चलेगी। वहीं दूसरी पाली की परीक्षा दोपहर 1.45 बजे से शाम पांच बजे तक होगी। सीवान में 36 और महाराजगंज में 7 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इसमें चार आदर्श परीक्षा केंद्र होंगे। इसमें सीवान में राजवंशी देवी बालिका हाईस्कूल और प्रभावती देवी महिला कॉलेज जबकि महाराजगंज में गोरख सिंह महाविद्यालय और सिहौता-बंगरा हाईस्कूल को आदर्श परीक्षा केंद्र बनाया गया है। परीक्षा के दौरान गश्ती दल दंडाधिकारी, जोनल दंडाधिकारी और सुपर जोनल दंडाधिकारी को प्रतिनियुक्त किया गया है। सभी अपने क्षेत्र में परीक्षा के दौरान निरीक्षण कार्य करेंगे।

गंडक बराज के जलाशय में पक्षियों का शिकार जोरों पर

श्रीनारद मीडिया‚ सीवान (बिहार)

पश्चिमी चंपारण। इन दिनों गंडक बराज के जलाशय में पक्षियों का शिकार जोरों पर है। जहां इन्हें पेट भरने के लिए भोजन और सुरक्षा की तलाश रहती है। मांस खाने के शौकीन पलोग इनका मांस बहुत ही चाव से खाते हैं। शिकारी, जाल, फंदे व जहरीली दवा से इनका शिकार करते हैं। पका चावल, आटे की गोली, पुरैन के पत्ते पर रखते हैं और इनका शिकार करते हैं। पक्षियों का आगमन शुरू होते ही शिकारी सक्रिय हो गए हैं। इनके द्वारा पक्षियों का शिकार किया जा रहा है। शिकार के बाद मांस खाने के शौकीनों को इस मनमाने दामों में बेचा जा रहा। शिकार रोकने की जिम्मेदारी वन विभाग की है। जिसका फायदा शिकारियों द्वारा उठाया जा रहा है। इस क्रम में वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के वन कक्ष संख्या एम-30 चुलभट्ठा के समीप गंडक नदी से बगुला का शिकार कर उसके मांस को पकाने के क्रम में तीन शिकारियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं एक आरोपी भागने में सफल रहा। इस बाबत वाल्मीकि नगर रेंजर महेश प्रसाद ने बताया कि गुरुवार की देर संध्या गुप्त सूचना मिली कि लवकुश घाट में कुछ लोगों ने बगुले का शिकार किया है। जिसका मांस को पकाया जा रहा है। सूचना पर त्वरित कार्यवाई करते हुए वनपाल विजय कुमार पाठक अपने सह कर्मियों के साथ उक्त जगह पर छापेमारी की। इस क्रम में हरिन्दर सहनी के घर में मांस पकाते दो और व्यक्ति क्रमश: वकील सहनी व किसनाथ सहनी को गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं एक अन्य आरोपी शूरी सहनी मौके से फरार होने में सफल रहा। गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर बगहा न्यायालय भेज दिया गया है। बताते चलें कि इन पक्षियों को 1200 से लेकर 1800 रुपये जोड़ा की दर से बिक्री की जा रही। ठंड के मौसम में पक्षियों डिमांड काफी बढ़ जाती है। शौकीन लोग इसके लिए मनमाना दाम भी देने को तैयार रहते हैं। शिकारी भी ऐसे हैं, कि उन्हें पैसा दीजिए, तो वह हर किस्म की पक्षी देने को तैयार रहते हैं।

Leave a Reply