सत्याग्रह की सफलता पर छपरा की जनता को धन्यवाद

सत्याग्रह की सफलता पर छपरा की जनता को धन्यवाद

०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow
०१
WhatsApp Image 2023-11-05 at 19.07.46
PETS Holi 2024
previous arrow
next arrow

श्रीनारद मीडिया, मनोज तिवारी,  जलालपुर/ छपरा ,  सारण  (बिहार )

छपरा  नगर पालिका चौक पर छपरा भूमि स्वामी संगठन द्वारा आयोजित सत्याग्रह की समीक्षा के लिए आज एक बैठक बुलाई गई। बैठक में सैकड़ों से भी अधिक भू स्वामी शामिल हुए। संगठन के अध्यक्ष पांडे शैलेश ने छपरा की जनता का इस अभूतपूर्व सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हुए उन्होंने कहा की यह पिछले कई दशकों में पहली बार है की एक अराजनैतिक सत्याग्रह को इतना आम जनता से सहयोग मिला हो। हजारों की संख्या में लोग अपने अपने दुकानों एवं संस्थानों को स्वेच्छा से बंद करके सड़क पर भूमि स्वामियों के सपोर्ट में नारे लगाते दिखे।

छपरा के सबसे प्रमुख श्रीनंदन पथ जहां रिलायंस ट्रेंड और भी व्बाजार जैसे मॉल्स हैं, वहीं कपड़े, पाइप, किराना इत्यादि की थोक मंडी भी हैं। इस व्यस्त व्यवसायिक रोड जहां पैर रखने की भी जगह नहीं होती वो पूरी तरह बंद था सत्याग्रह के समय पूरी तरह वीरान लग रहा था। इसका असर सिर्फ छपरा ही नहीं बल्कि पूरे सारण जिला पर भी देखा गया।
यद्यपि ये अभी डबल डेकर से प्रभावित लोगों द्वारा बनाया हुआ संगठन है, परंतु संगठन उम्मीद करता है ज्यादा से ज्यादा छपरा निवासी इसमें शामिल हो और अपने भूमि के मालिकाना हक के बारे मे बात बढ़ाएं। आज ये डबल डेकर से प्रभावित लोगों का मसला है कल ये शहर के 70 प्रतिशत का होगा जो की सरकार के अनुसार असर्वेक्षीत है। बैठक में मुख्य रूप से भूमि स्वामी संगठन के सदस्य अतुल कुमार, दिवाकर गुप्ता, प्रशांत राज, सुनील ब्याहुत ,डॉ मिश्रा, डॉ डी के सिंह ,शैलेश गुप्ता ,मोहम्मद परवेज, निकिता, सुजीत कुमार इत्यादि शामिल थे.

यह भी पढ़े 

गिड़गिड़ाती रही नाबालिक पर नहीं माने दरिंदे.

सामाजिक कुरीतियो के खिलाफ आजीवन लडनेवाले समाजोद्धार संघ के अध्यक्ष चन्द्रभूषण गिरि नही रहे

जलालपुर में पंडित महेंद्र मिश्र की 136वीं जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई

ब‍िहार से जुड़ा मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक भरी कार रखने वाले का तार

नौ साल बाद जदयू के हुए उपेंद्र कुशवाहा,कैसे?

बिहार में जमुई के खेत में मिली छात्र-छात्रा की लाश.

पांच साल की बच्‍ची के साथ 65 साल के बुजुर्ग ने किया घिनौना काम, गिरफतार  

बिहार एसटीईटी में जो पास हो गए उनकी नौकरी पक्‍की! पांच हजार पद रह जाएंगे खाली

Leave a Reply

error: Content is protected !!