गुप्तांग पर फोड़े का इलाज कराने गया मरीज, डॉक्टर्स ने प्राइवेट पार्ट ही काट डाला

गुप्तांग पर फोड़े का इलाज कराने गया मरीज, डॉक्टर्स ने प्राइवेट पार्ट ही काट डाला

श्रीनारद मीडिया, सेंट्रल डेस्‍क:

भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर स्थित बाड़मेर जिले में इलाज के नाम पर मरीज के जीवन से खिलवाड़ करने का मामला सामने आया है. यहां एक मरीज गुप्तांग पर हुये फोड़े का इलाज कराने सरकारी चिकित्सालय गया था. वहां चिकित्सक ने उसे इलाज के लिये निजी अस्पताल में भेज दिया. वहां न केवल पीड़ित से मोटी रकम वसूल ली गई, बल्कि उसके प्राइवेट पार्ट को ही काट दिया गया. पीड़ित ने अब इस मामले में पुलिस के सामने अपना दर्द बयां किया है. पीड़ित के पास इलाज के रुपये नहीं होने के कारण उसने अपने घर को गिरवी रखकर यह रकम जुटाई थी.

 

जानकारी के अनुसार बाड़मेर निवासी एक मरीज के गुप्तांग पर एक फोड़ा हो गया था. वह उसका इलाज करवाने के लिये बाड़मेर के सरकारी अस्पताल में गया. पीड़ित का आरोप है कि सरकारी अस्पताल के डॉक्टर वीके गोयल ने उसे कहा कि इसका बाड़मेर के निजी यश अस्पताल में इलाज संभव है. एक मामूली सर्जरी की जाएगी और वह पूरी तरह से स्वस्थ हो जाएगा.

इलाज कराने को घर गिरवी रखा

डॉक्टर ने इलाज की फीस डेढ़ लाख रुपए बताई. पीड़ित के पास इतने रुपये नहीं थे तो उसने अपने घर का पट्टा गिरवी रखकर रकम जुटाई और डॉक्टर को फीस अदा की. उसके बाद उसका इलाज शुरू किया गया.

WhatsApp Image 2020-07-09 at 15.09.10
website ads
WhatsApp Image 2021-10-09 at 07.44.49
1
mira devi
rameshwar singh
meghnath prasad
arbind singh
kiran devi
WhatsApp Image 2021-10-25 at 06.46.32
previous arrow
next arrow
WhatsApp Image 2020-07-09 at 15.09.10
website ads
WhatsApp Image 2021-10-09 at 07.44.49
1
mira devi
rameshwar singh
meghnath prasad
arbind singh
kiran devi
WhatsApp Image 2021-10-25 at 06.46.32
previous arrow
next arrow

प्राइवेट पार्ट करीब 1 इंच कटा हुआ था

पीड़ित ने बताया कि इलाज के दौरान उसे बेहोशी का इंजेेक्शन लगाया गया था. बाद में जब उसे होश आया तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गई. क्योंकि उसका प्राइवेट पार्ट करीब 1 इंच कटा हुआ था. उस पर करीब 12 टांके लगे हुए थे. पीड़ित का आरोप है कि उसका इलाज 1 सरकारी और 2 निजी डॉक्टर्स ने किया. डॉक्टर्स ने लापरवाही बरतते हुए उसका जीवन तबाह कर दिया.

 

फीस की रसीद नहीं दी और ना पूरा इलाज किया

पीड़ित का यह भी आरोप है कि उसे ना तो कोई फीस की कोई रसीद दी गई और ना ही उसका पूरा इलाज किया गया. इलाज में कमी के चलते अब उसके गुप्तांग में मवाद भर चुकी है. अब वह अपना इलाज जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल में करवा रहा है. पीड़ित की मानें तो मथुरादास माथुर अस्पताल के डॉक्टर्स ने उसे बताया है कि उसके इलाज में करीब 2 महीने लगेंगे. उसके बाद भी वह सामान्य जीवन जी पाएगा या नहीं ? इसके बारे में कहा नहीं जा सकता.

बाड़मेर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो आईजी के पास पहुंचा पीड़ित

पीड़ित ने इस घटना की शिकायत बाड़मेर एसपी को देते हुए परिवाद दर्ज करवाया. पीड़ित का आरोप है कि पुलिस उसके मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही है. इसके चलते उसने मंगलवार को जोधपुर रेंज आईजी नवज्योति गोगई को शिकायत सौंपी है.

यह भी पढ़े

पूर्वांचल का सबसे बड़ा मेडिकल कॉलेज अब अघोराचार्य बाबा कीनाराम के नाम से जाना जाएगा, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

गोपालगंज डीएम की अच्छी पहल: सर्वजन दवा सेवन के लिए “10 ग्लास 10 लाभार्थी” अभियान की शुरूआत

कोविड टीकाकरण से वंचित लाभार्थियों का घर-घर जाकर सर्वे करेंगी आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता

गरीबों के सेवा एवं इलाज कराने के प्रति बीजेपी ने चलाया समर्पण अभियान : शैलेन्द्र सेंगर

shrinarad media

Leave a Reply

Next Post

शारदीय नवरात्र की हार्दिक शुभकामनाएं

Thu Oct 7 , 2021
शारदीय नवरात्र की हार्दिक शुभकामनाएं श्रीनारद मीडिया / सुनील मिश्रा वाराणसी यूपी आप सभी को शारदीय नवरात्र के शुभ अवसर पर सभी काशी वासियों एवं देशवासियों को ढेर सारी हार्दिक शुभकामनाएं, मां दुर्गा आप सभी को स्वस्थ और प्रसन्न रखे व सुख समृद्धि और शक्ति प्रदान करें। Share on Facebook […]
error: Content is protected !!