यह चुनाव बिहार का चुनाव नहीं देश का चुनाव है और गरीबों के स्वाभिमान का चुनाव है : दीपांकर भट्टाचार्या

यह चुनाव बिहार का चुनाव नहीं देश का चुनाव है और गरीबों के स्वाभिमान का चुनाव है : दीपांकर भट्टाचार्या

विजयीपुर । संग्राम ओझा’भावेश

विजयीपुर में भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्या ने महागठबन्धन के चुनावी सभा को संबोधित किया। जिसमें उन्होंनें बिहारी मजदुरो के हित की बात करते हुए अपनी बात की शुरूआत की।उन्होंने कहा की पूरे देश में जो इमारतें खड़ी है बिहारी मजदूरों की देन है ।इन्हें घर आते हैं ही 14 दिन के लिए कोरेन्टाइन में भेजा गया। जहां न शुद्ध पानी, ना भोजन और ना ही रहने की व्यवस्था तथा दवा भी नही मिला ।इसलिए इस बार बिहारियों को इस दर्द और अपमान का बदला लेना है और एनडीए सरकार को बिहार से उखाड़ फेंकना है। यह चुनाव बिहार का चुनाव नहीं देश का चुनाव है और गरीबों के स्वाभिमान का चुनाव है। पुरे देश की नजरें बिहार के चुनाव पर टिकी है।भोरे विधानसभा क्षेत्र के महागठबंधन के प्रत्याशी जितेन्द्र पासवान के पक्ष में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए विजयीपुर प्रखंड के श्री राम संस्कृत महाविद्यालय के प्रांगण में भाकपा माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि मोदी जी देश छोड़कर बिहार में चुनाव प्रचार कर रहे हैं ।वह इसको बेचने पर उतारू है ।वे हिटलर और मुसोलनी की राह पर चल रहे हैं और महागठबंधन के लोग भगत सिंह और चंद्रशेखर आजाद के नक्शे कदम पर चल कर कुर्बानी दे रहे हैं ।उन्होंने मोदी जी की विफलता को गिनाते हुए कहा कि 24 मार्च को बोले थे कि 21 दिन में कोरोना महामारी भारत से फुर्र हो जाएगी ।और आज 7 महीना बीत गया अभी टीका भी नहीं बना।उन्होंने बिहार के लोगों के बारे में कहा कि बिहारी मजदूरों की देन है कि देश के बड़े शहरों में इमारतें खड़ी है। यहां के मजदूर और प्रतिभावानो ने देश से लेकर विदेश तक डंका बजाया है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन ने साझा संकल्प पत्र तैयार किया है मोदी जी और नीतीश जी ने ठेके पर रोजगार और नौकरी देने की बात कही है। महागठबंधन 10 लाख लोगों को पक्का नौकरी देगी ।आंगनबाड़ी, जीविका, आशा का मानदेय दोगुना करेगी ।महागठबंधन के साझा कार्यक्रम में 25 मुद्दे हैं जो सरकार बनते लागू करेगी ।श्री भट्टाचार्य ने कहा कि बिहार में 5 लाख पद खाली है ।उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि क्या यह पद सरकार की शोभा बढ़ाने के लिए बनाए गए हैं जो कि अभी तक रिक्त है।उन्होंने कहा कि एनडीए टूट रही है ।पंजाब में अकाली दल टूट गया। महाराष्ट्र में शिवसेना टूट गई। बिहार में लोजपा साथ छोड़ गई ।मोदी जी की उल्टी गिनती शुरू है ।2021 में आसाम ,बंगाल में चुनाव है। 2022 में यूपी में चुनाव है ।सबकी नजरें बिहार पर हैं ।उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में एनडीए का सूपड़ा साफ हो गया है ।अब दूसरे चरण में छपरा, सीवान, गोपालगंज की बारी है ।आप लोग नीतीश को हटाइए, महागठबंधन को जीताइए ।बिहार में पुनः बहार मंगाइए ।सभा में महागठबंधन भोरे विधानसभा के प्रत्यासी जितेन्द्र पासवान,मुखिया पारसनाथ यादव, श्री राम कुशवाहा ,जफर जावेद झारखंड के विधायक विनोद सिंह कांग्रेसी नेता अमूल रतन शुक्ला उर्फ जुगानी राजद के प्रखंड अध्यक्ष राधा यादव सहित सैकड़ों लोग थे।

निराला ओझा ( ब्यूराे ) गोपालगंज

Leave a Reply

Next Post

चिराग ने उलझा दिया एनडीए का गणित, जदयू से ज्यादा भाजपा के लिए सिरदर्द बनी लोजपा.

Fri Oct 30 , 2020
चिराग ने उलझा दिया एनडीए का गणित, जदयू से ज्यादा भाजपा के लिए सिरदर्द बनी लोजपा. श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क भागलपुर में लोजपा के राजेश वर्मा ने भाजपा प्रत्याशी रोहित पांडेय की परेशानी बढ़ा रखी है। गोविंदगंज में भाजपा प्रत्याशी सुनील मणि त्रिपाठी के खिलाफ लोजपा के मौजूदा विधायक राजू […]

Breaking News

error: Content is protected !!