राज्य के 994 थानों में पुलिस की दो टीम नजर आएगी

राज्य के 994 थानों में पुलिस की दो टीम नजर आएगी

श्रीनारद मीडिया‚ राकेश सिंह‚ स्टेट डेस्क:

15 अगस्त यानी गुरुवार से बिहार पुलिस की व्यवस्था बदल जाएगी। थानों से लेकर पुलिसिंग तक में बदलाव दिखेंगे। राज्य के 994 थानों में पुलिस की दो टीम नजर आएगी। एक कानून-व्यवस्था को संभालेगी तो दूसरे के जिम्मे अनुसंधान का काम होगा। थानों में दो अपर प्रभारी होंगे। यही नहीं स्वतंत्रता दिवस से पुलिस जोन खत्म हो जाएंगे और उनकी जगह सिर्फ रेंज ही रह जाएंगे।

पुलिसिंग को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए कई बदलाव किए गए हैं, जो स्वतंत्रता दिवस से प्रभावी होंगे। राज्य में अभी 1074 थाने हैं। इनमें अनुसूचित जाति एवं जनजाति और महिला थानों की संख्या 80 है। चूंकि इन थानों में सिर्फ अनुसंधान का काम होता है लिहाजा इनमें कार्य बंटवारे का कोई मतलब नहीं है। बचे हुए 994 थानों में कानून-व्यवस्था और अनुसंधान देखने के लिए दो अलग-अलग टीमें बनाई गई हैं। दोनों टीमें गुरुवार से अपनी-अपनी जिम्मेदारियां संभालेंगी।कानून-व्यवस्था और अनुसंधान की जिम्मेदारी में किसी तरह की कोई दिक्कत न हो इसके लिए थानों में दो अपर प्रभारी होंगे। एक अनुसंधान तो दूसरा कानून-व्यवस्था देखेगा। इनकी तैनाती कर दी गई है। थाने में मौजूद पुलिस अधिकारियों के बीच भी काम का बंटवारा कर दिया गया है। सरकार द्वारा 50-50 प्रतिशत बल को दोनों इकाइयों में रखने के आदेश दिए गए हैं पर स्थानीय जरूरतों के मुताबिक 75 प्रतिशत तक अनुसंधान और 25 प्रतिशत पुलिस अधिकारी कानून-व्यवस्था के काम में लगाए जा सकते हैं।

दागदार नहीं रहेंगे थानेदार
थाना प्रभारी और सर्किल इंस्पेक्टर के पद पर अब दागदार अधिकारी तैनात नहीं होंगे। पुलिस मुख्यालय के आदेश पर ऐसे 384 पुलिस अधिकारियों की छुट्टी 8 अगस्त तक कर दी गई थी। भविष्य में भी अब इन पदों पर सरकार के मापदंड में फिट नहीं बैठने वाले पुलिस अधिकारियों को तैनात नहीं किया जाएगा।

जोनल आईजी की जगह सिर्फ रेंज
15 अगस्त से पुलिसिंग में एक और बड़ा बदलाव नजर आएगा। जोनल आईजी के पद को समाप्त कर दिया गया है। इनकी जगह सिर्फ रेंज ही रहेगा। पटना, भागलपुर, दरभंगा और मुजफ्फरपुर को जोन की जगह पुलिस रेंज में बदल दिया गया है। वहीं, बेगूसराय नया पुलिस रेंज बनाया गया है। यह आदेश भी गुरुवार से प्रभावी हो जाएगा।

 

सरकार हर साल सिपाही के खाली पदों की गणना कराएगी

श्रीनारद मीडिया‚ राकेश सिंह‚ स्टेट डेस्क:

सरकार हर साल सिपाही के खाली पदों की गणना कराएगी। यह जिम्मेदारी डीजीपी की होगी। प्रत्येक वर्ष अप्रैल में सिपाही के रिक्त पदों की गणना होगी। यह गणना आरक्षण कोटि के तहत की जाएगी। रिक्त पदों पर बहाली के लिए केन्द्रीय चयन पर्षद (सिपाही भर्ती) को अधियाचना भेजी जाएगी। चयन पर्षद सिपाही के पद पर नियुक्ति की कार्रवाई करेगा।

सिपाही बहाली की प्रक्रिया में बदलाव की अधिसूचना बुधवार को जारी की गई। अधिसूचना के मुताबिक सिपाही के रिक्त पदों के एक प्रतिशत पर अब खिलाड़ियों की नियुक्ति होगी। राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलकूद में बेहतर प्रदर्शन करनेवाले खिलाड़ियों के लिए यह आरक्षित होगा। बिहार पुलिस खेल-कूद नीति के तहत उनकी बहाली होगी। वहीं पिछड़े वर्ग की महिलाओं के लिए 3% पद पहले की तरह आरक्षित रहेंगे।इसके बाद बचे 97% पदों का 35% महिलाओं के लिए आरक्षित होगा। हालांकि इस 35% आरक्षण कोटि के लिए योग्य महिला अभ्यर्थी उपलब्ध नहीं होने पर कोटिवार योग्य पुरुषों से इसे भरा जाएगा।

 

 

अज्ञात महिला का शव मिला

श्रीनारद मीडिया‚ राकेश सिंह‚ स्टेट डेस्क:

बेगूसराय।जिले में उस वक्‍त सनसनी मच गई जब लाखो सहायक थाना क्षेत्र के वाजितपुर व हनुमानगढ़ी के बीच एक अज्ञात महिला का शव मिला। अहले सुबह ग्रामीणों ने शव को देखा तो बात जंगल के आग की तरह फैल गई । इसी बीच‍ किसी ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस को जैसे ही सूचना मिली वह घटनास्थल की ओर रवाना हो गई। मौके पर पहुंच कर मुफस्सिल पुलिस ने शव को पोस्‍टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया । अब तक शव की पहचान नहीं हुई है। पुलिस ने दुष्कर्म कर फेंके जाने की आशंका जताई है। फिलहाल जांच की जा रही है।

Leave a Reply