दलित सर्वाधिक चर्चित शब्द है और यह पिछले 50 वर्षों से चर्चा में है  : प्रोफेसर सुरेश चंद्र श्रीनारद मीडिया, सेंट्रल डेस्‍क: हिन्दी विभाग, इलाहाबाद विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित व्याख्यानमाला के प्रथम सत्र में “दलित विमर्श और साहित्य” विषय पर बोलते हुए दक्षिण बिहार केंद्रीय विश्वविद्यालय, बिहार के हिन्दी विभाग के […]

पत्रकारिता एक राष्ट्रधर्म हैं। इसका अर्थ है कि राष्ट्र के प्रति आप संवेदनशील हो,उसके समाज को जागरुक करते रहें,क्योंकि समाज के लगातार बनते-बढ़ते-बदलते स्वरूप को प्रस्तुत करने की जिम्मेदारी मीडिया पर है।समय के साथ नए दौर में इसकी भूमिका और व्यापक हो गई है। प्रिंट,इलेक्ट्रॉनिक,वेव,डिजिटल एवं सोशल मीडिया ने अपने […]

error: Content is protected !!