मायावती हार के भी कैसे जीत गयीं? श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क आजमगढ़ में जिस तरह से बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी ने मुकाबले का त्रिकोणीय बना दिया, वह न केवल रोचक रहा बल्कि यह बात भी जोर पकड़ने लगी है कि बहुजन समाज पार्टी को जो समाजवादी बीजेपी की बी […]

क्या जी-7 में भारत की भूमिका अहम होगी? श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क जी-7 की बैठक ऐसे समय में हो रही है, जब विश्व के समक्ष कोरोना महामारी का असर, वैश्विक मुद्रास्फीति, आपूर्ति शृंखला की बाधाएं, रूस-यूक्रेन युद्ध, अन्य भू-राजनीतिक संकट, खाद्य संकट, ऊर्जा सुरक्षा, जलवायु परिवर्तन जैसी अनेक गंभीर चुनौतियां […]

राष्ट्रपति फ़ख़रूद्दीन अली अहमद ने इमरजेंसी की घोषणा पर लगाई थी मुहर. श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क 25 जून 1975 को पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री, कांग्रेस के कद्दावर नेता, संविधान विशेषज्ञ और इंदिरा गांधी पर खास असर रखने वाले सिद्धार्थ शंकर रे को दिल्ली बुलाया गया था… इसी दिन दिल्ली के […]

नसबंदी से लेकर अखबारों की सेंसरशिप तक इमरजेंसी. श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क 25 जून भारतीय इतिहास में बहुत महत्व रखता है. खासतौर पर दो घटनाओं के लिए 25 जून को याद किया जाता है, उनमें से एक है 25 जून 1975 को देश में लगा आपातकाल (Emergency in India) और […]

आपातकाल को लोकतंत्र का काला अध्याय क्यों कहा जाता है? श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क आपातकाल या इमरजेंसी. हिंदी और अंग्रेजी के ये दो शब्द 2014 के बाद भारतीय राजनीति में आम हो गए हैं. इन दोनों शब्दों को मौके-दर-मौके या यूं कहें कि हर मौकों पर इतनी चर्चा की जाती […]

गुस्से की ये आग आखिर कभी अपना वाहन क्यों नहीं फूंकती? श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क कहते हैं समय और मौसम कई उलझे हुए मसलों का इलाज कर देता है। जैसे नानी बाई के मायरे में जिन-जिन लोगों ने कपड़े लत्तों के लिए ताने मारे थे, श्रीकृष्ण ने उन सब के […]

आज भारत का मध्यवर्ग क्या चाहता है? श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क बीते वर्षों में इसका आकार और समृद्धि तेजी से बढ़े और यह इकलौता ऐसा वर्ग है, जिसे अपने विस्तार में अखिल भारतीय कहा जा सकता है। मध्यवर्ग आर्थिक विकास चाहता है। उसे अच्छी जीवनशैली, अधिक नौकरियां और बेहतर वेतन […]

जितना रहेंगे व्यस्त उतना रहेंगे स्वस्थ. श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क बहुत बार हम अपने आप को एक कवच एक शैल में बंद कर लेते हैं और दुनिया से दूर हो जाते हैं। हमें ना तो दुनिया दिखाई देती है और ना ही सुनाई देती है। कई लोग इसे ध्यान या […]

असम हर साल बाढ़ के कारण 19 साल पिछड़ता जाता है,कैसे? बाढ़ में सालाना 200 करोड़ रुपये का नुकसान होता है. श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क असम के 32 जिलों के 5,424 गांव पानी में डूबे हैं और लगभग 47.72 लाख लोग इससे सीधे प्रभावित हुए हैं. मौत का आंकड़ा 80 […]

डॉ मुखर्जी के विचारों वाली पार्टी भाजपा ने उनके स्वप्न को अधूरा नहीं छोड़ा,कैसे? पुण्यतिथि पर विशेष श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म छह जुलाई, 1901 को कोलकाता के प्रतिष्ठित परिवार में हुआ था. मुखर्जी भारतीय राजनीति के ऐसे महान व्यक्तित्व हैं, जिन्होंने आजादी के बाद […]

error: Content is protected !!