महंत नरेंद्र गिरि को बाघंबरी मठ में दी गई भू-समाधि, पोस्टमार्टम में फांसी लगने से मौत की पुष्टि.

महंत नरेंद्र गिरि को बाघंबरी मठ में दी गई भू-समाधि, पोस्टमार्टम में फांसी लगने से मौत की पुष्टि.

श्रीनारद मीडिया सेंट्रल डेस्क

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का पोस्टमार्टम बुधवार को समाप्त हो गया है. पांच डॉक्टरों की टीम ने वीडियोग्राफी के बीच उनके पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम किया. इसके बाद अब प्रशासन को इसकी रिपोर्ट आने का इंतजार है. पोस्टमार्टम के बाद महंत नरेंद्र गिरि को बाघंबरी मठ के बगीचे में उनके गुरु की समाधि पास ही भू-समाधि दी गई.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नरेंद्र गिरि मौत मामले में पुलिस ने करीब 12 घंटे तक आनंद गिरि से पूछताछ की है. पुलिस ने आद्या तिवारी, आनंद गिरि को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की. इस दौरान सुसाइड नोट, हैंड राइटिंग को लेकर सवाल पूछे गए.

पुलिस की पूछताछ के दौरान आनंद गिरि ने उसके खिलाफ साजिश होने की बात कही. उसने कहा कि उसका अब महंत जी के साथ कोई विवाद नहीं था. महंत आनंद गिरि, आद्या तिवारी और उसके बेटे संदीप तिवारी तीनों से एक साथ भी मंदिर के चंदे में गड़बड़ को लेकर पूछताछ की गई.

खबर यह भी है कि उत्तर प्रदेश पुलिस हरिद्वार के एक आश्रम से गिरफ्तार नरेंद्र गिरि के शिष्य आनंद गिरि के लैपटॉप, फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को भी कब्जे में लेकर फॉरेंसिक जांच के लिए भेज रही है. इसके साथ ही, गनर अजय समेत सुरक्षा में तैनात 4 पुलिसकर्मियो से पूछताछ की गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, महंत नरेंद्र गिरि की मौत का मामले में गिरफ्तार 2 लोगों की आज कोर्ट में पेशी होगी. इसमें आनंद गिरि,आद्या तिवारी कोर्ट में पेश होंगे. पुलिस रिमांड के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल करेगी. दोपहर 12 बजे के बाद ही पेशी होने की उम्मीद है. दोनों आरोपियों को पुलिस लाइन में रखा गया है. इन आरोपियों से पूछताछ लगातार जारी है.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की सोमवार को संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के बाद मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासिनक अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए. इसके साथ ही, उन्होंने प्रयागराज के बाघंबरी मठ पहुंचकर महंत नरेंद्र गिरि को श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस दुखद घटना से हम सभी व्यथित हैं.

उधर, खबर यह भी है कि महंत नरेंद्र गिरि के प्रमुख शिष्य आनंद गिरि को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है. हालांकि, इस मामले में संत समाज समेत साध्वी प्रज्ञा ने सीबीआई जांच की मांग की है. वहीं, महंत धर्मदास ने कहा कि हत्या मठ के अंदर ही की गई है.

हालांकि, अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध मौत के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी प्रयागराज के बाघंबरी मठ पहुंचकर पार्थिव शरीर के दर्शन किए. उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच हाईकोर्ट के सीटिंग जज से कराई जाएगी, तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.

समाचार एजेंसी एएनआई को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि इस दुखद घटना से हम सब व्यथित हैं. यह हमारे आध्यात्मिक और धार्मिक समाज की अपूरणीय क्षति है. मान अपमान की चिंता के बगैर उन्होंने प्रयागराज कुंभ को भव्यता के साथ आयोजित करने में योगदान दिया था. समाज और देश के हित में किए जाने वाले हर निर्णय में उनका सहयोग प्राप्त होता था.

उन्होंने कहा कि कल की घटना को लेकर बहुत से साक्ष्य इकट्ठे किए गए हैं. पुलिस की एक टीम, यहां के एडीजी जोन, आईजी रेंज और डीआईजी प्रयागराज, मंडलायुक्त प्रयागराज सभी अधिकारी एकसाथ मिलकर इस काम को आगे बढ़ा रहे हैं. एक-एक घटना का पर्दाफाश होगा और दोषी को अवश्य सजा मिलेगी.

इसके साथ ही, उन्होंने इस हाई प्रोफाइल मामले में बयानबाजी को लेकर भी लोगों को आगाह किया है. उन्होंने कहा कि मेरी सभी लोगों से विनम्र अपील होगी कि वे इस संवेदनशील मामले में बयानबाजी से बचें. इस मामले में जांच चल रही है और इसका पर्दाफाश जरूर होगा. दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी.

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि उनके शिष्यों, अनुयायियों और अखाड़ा से जुड़े पदाधिकारियों की राय है कि आज जनता के दर्शन के लिए उनका पार्थिव शरीर बाघंबरी पीठ पर रहेगा. कल 5 सदस्यीय टीम पार्थिव शरीर के पोस्टमार्टम की कार्रवाई सम्पन्न करेगी. उसके बाद उनके भावनाओं के अनुरूप यहां समाधि का कार्यक्रम सम्पन्न होगा.

Rajesh Pandey

Leave a Reply

Next Post

मशरक में नए बीडीओ ने किया योगदान

Wed Sep 22 , 2021
मशरक में नए बीडीओ ने किया योगदान श्रीनारद मीडिया‚ विक्की बाबा‚मशरक‚ सारण (बिहार): पंचायत चुनाव की तैयारी के बीच मशरक प्रखण्ड में बुधवार को नव पदस्थापित बीडीओ मो आसिफ ने योगदान किया । महज ढाई माह के कार्यकाल के बाद पुनः वैशाली वापस बीडीओ मनोज कुमार ने नवपदस्थापित बीडीओ का […]
error: Content is protected !!