अध्यात्म

चमत्कारिक है लौंग- आपकी जिंदगी का बुरा दिन खत्म कर सकती है, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

चमत्कारिक है लौंग- आपकी जिंदगी का बुरा दिन खत्म कर सकती है, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

 

श्रीनारद मीडिया, सेंट्रल डेस्‍क:

 

लौंग का इस्तेमाल लगभग हर घर में किया जाता है. ज्योतिष शास्त्र में लौंग का काफी महत्व है. हमारे घरों में पूजा पाठ के दौरान देवी-देवता को भोग लगाने के लिए इसका इस्तेमाल होता है. इसके साथ ही भोजन का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ कई तरह की दवाइयों में इसका इस्तेमाल होता है. घर से नकारात्मक ऊर्जा को बाहर निकालने के लिए भी लौंग का इस्तेमाल किया जाता है. नवरात्रि में मां दुर्गा को लौंग अर्पित करने का भी विशेष महत्व बताया गया है. मान्यता यह है कि मां दुर्गा को लौंग का जोड़ा अर्पित करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है. इसके अलावा, लौंग के उपाय से घर में सुख, समृद्धि आती है. आइए आज आपको लौंग के ऐसे ही चार चमत्कारी टोटके बताते हैं.जानिए लौंग के टोटकेधन लाभ, संकटों से छुटकारा पाने और भाग्य को मजबूत करने के लिए लौंग के टोटके बहुत उपयोगी माने जाते हैं. आइए जानते हैं लौंग से जुड़े कुछ खास टोटके और उपायों के बारे में-राहु-केतु के दोष होते हैं दूरऐसी मान्यता है कि लौंग के टोटके से राहु-केतु का बुरा प्रभाव कम किया जा सकता है.  हर शनिवार को लौंग का दान करने से राहु का दोष खत्म होता है और घर में खुशहाली आती है.शिवलिंग पर भी अर्पित कर सकते लौंगआप शिवलिंग पर भी लौंग अर्पित कर सकते हैं. 40 दिनों तक लगातार ऐसा करने से सारे बुरे प्रभाव खत्म होते हैं.घर से बाहर निकलते वक्त मुंह में दो लौंग रखकर निकलेंकाम से बाहर जा रहे हैं तो घर से बाहर निकलते वक्त मुंह में दो लौंग रखकर निकलें. अपने इष्टदेव का ध्यान करते हुए उस कार्य में सफलता के लिए प्रार्थना करें. ऐसा करने से आपको उस कार्य में सफलता मिल सकती है.हनुमान दीपक में डालें लौंगअगर आपको लाख मेहनत करने के बाद कोई काम पूरा नहीं होता है या फिर आपको सफलता न मिलें तो मंगलवार के दिन हनुमानजी की मूर्ति के सामने चमेली के तेल का दीपक जलाएं. इस दीपक में दो लौंग डाल दें और इसके बाद हनुमान चालीसा का पाठ और आरती करें. ऐसा लगातार 21 मंगलवार तक करने से आपको मेहनत का फल मिलेगा.जरूरी काम से जाने समय खाएं लौंगकिसी जरूरी काम से बाहर जा रहे हैं तो घर से बाहर निकलते वक्त मुंह में दो लौंग रखकर निकलें और कार्यस्थल पर लौंग के कुछ अवशेष मुंह से फेंक दें. अपने इष्टदेव का ध्यान करते हुए उस कार्य में सफलता के लिए प्रार्थना करें. ऐसा करने से आपको उस कार्य में सफलता मिल सकती है.आर्थिक तंगी दूर होगीघर में आर्थिक तंगी रहती है तो माता लक्ष्मी को गुलाब के फूलों के साथ दो लौंग भी पूजा में अर्पित करें. इसके अलावा एक लाल रंग के कपड़े में 5 लौंग और 5 कौड़ियों बांधकर तिजोरी या फिर अलमारी में रख दें. ऐसा करने से मां लक्ष्मी की कृपा होती है और घर में धन का आगमन होता है.उधार पैसे वापस लाने के लिएअगर कोई व्यक्ति आपके द्वारा दिए गए पैसे वापस करने में आनाकानी कर रहा है तो अमावस्या या फिर पूर्णिमा के दिन रात के समय 21 लौंग कपूर में रखकर जला दें और मां लक्ष्मी का ध्यान करते हुए हवन कर लें. ऐसा करने से राहु केतु का दुष्प्रभाव कम हो जाएगा.लौंग को अच्छी बारिश की जरूरतज्यादातर लौंग एशियन कॉन्टिनेंट में ही उगाई जाती है, इसके अलावा लौंग साउथ इंडिया में उगाया जाता है. लौंग के पेड़ का फल मौसम पर निर्भर करता है. अगर इसके लिए उपयुक्त मौसम नहीं मिला तो इसमें फल नहीं आएंगे. ये गर्म और ह्यूमिड मौसम में अच्छे से उगाई जाती है और इसे अच्छी बारिश की भी जरूरत होती है. इसके पेड़ को पार्शियल शेड चाहिए होती है.लौंग को लेकर कुछ खास बातें

website ads
WhatsApp Image 2022-12-28 at 17.44.51
1
३५
२१
previous arrow
next arrow
website ads
WhatsApp Image 2022-12-28 at 17.44.51
1
३५
२१
९
८
७
previous arrow
next arrow
  • लौंग के पौधे करीब 4 से 5 साल में फल देना शुरू कर देते हैं.
  • इसके फल पौधे पर गुच्छों में लगते हैं. इनका रंग लाल गुलाबी होता है.
  • इसका पौधा 10-12 मीटर तक बढ़ता है.
  • ये असल में फ्लावर बड्स यानी लौंग के पेड़ के फूलों की कली होती है जो असल में खिली नहीं होती है.
  • अगर ये फूल खिल गए तो इसे इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.
  • अगर लौंग की कली टूट गई तो इसकी कीमत कम हो जाएगी.
  • फार्म्स में सिर्फ इसे हाथों से ही तोड़ा जाता है.

किस मौसम में होता है लौंगइसकी हार्वेस्टिंग अधिकतर फरवरी से शुरू होती है.लौंग के फूल क्यों नहीं खाने चाहिए?लौंग का ज्यादा सेवन करने से खून पतला हो सकता है. जिन लोगों को ब्लीडिंग डिसऑर्डर जैसे हीमोफीलिया की बीमारी है. उन्हें लौंग का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए इससे उनकी सेहत को नुकसान पहुंच सकता है.मानसून में ऐसे करें लौंग की खेती, होगा डबल मुनाफाभारत में लौंग का प्रयोग कई तरह की बीमारियों में किया जाता हैय यह एक सदाबहार पेड़ है, जो सेहत के लिए बहुत ही लाभकारी है.  लौंग के बीज को तैयार करने के लिएपेड़ से पके हुए कुछ फलों को इक्कठा किया जाता है. इसके बाद उनको निकालकर रखा जाता है. जब बीजों की बुआई करनी हो, तब पहले इसको रात भर भिगोकर रखना होता है.यहां हैं लौंग के कुछ बेमिसाल फायदेसूजन कम करती है- लौंग में कई ऐसे कॉम्पोनेंट्स शामिल होते हैं जो एंटी- इंफ्लेमेटरी गुणों से जुड़े होते हैं. इसके उपयोग से शरीर में सूजन कम करने, गठिया जैसी बीमारी को कम करने और लक्षणों को ठीक किया जाता है.फ्री रेडिकल्स से मुक्तिलौंग एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है. ये आपके शरीर को free radicals से लड़ने में मदद करते हैं, जो आपके cell को नुकसान पहुंचा सकते हैं और बीमारी का कारण बनते हैं. आपके सिस्टम से मुक्त कणों को हटाकर, लौंग में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट हृदय रोग , मधुमेह और कुछ कैंसर के खतरे को कम करता है.अल्सर से बचाव
लौंग अल्सर से बचने में मदद कर सकती है. इसके साथ मौजूद अल्सर को ठीक करने में भी सहायता कर सकती है.बेहतर डाइजेशन​​​​​​​
लौंग खाने से डाइजेशन सही रहता है. दिन में एक या दो टीस्पून भुने लौंग के पाउडर के साथ शहद मिलाकर लिया जा सकता है.माउथ हेल्थ
लौंग के उपयोग से मसूड़ों की बीमारियां नहीं होती.डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद- लौंग डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है. एक स्टडी में कहा गया कि लौंग के उपयोग से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है.

यह भी पढ़े

चंद्र ग्रहण के समय करें ये काम , दूर हो जाएंगे बड़े-बड़े संकट 

माट साहब के नहीं रहने के बाद सभी उनके होने का मतलब समझ रहे हैं-संजय सिंह

8 नवंबर को लगेगा चंद्र ग्रहण, सूतक लगेगा या नहीं, क्‍या बरतनी होगी सावधानी?  पढ़े पूरी खबर

भोरे की धरती भोजपुरी आंदोलन कि पहली अलख 1947 में जगाई थी- डॉ जयकांत सिंह ‘जय’।

घर में चुपचाप यहां पर रख दें लौंग, घर में होगी पैसे की बारिश

अब घर बैठे पैसे कमाएं अपनाएं 19 तरीके

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!