गर्मी में एसी के बिजली बिल से हैं परेशान तो बिल कम करने का जानें सबसे आसान तरीका, बस करना होगा ये काम

गर्मी में एसी के बिजली बिल से हैं परेशान तो बिल कम करने का जानें सबसे आसान तरीका, बस करना होगा ये काम

श्रीनारद मीडिया, सेंट्रल डेस्‍क:

भीषण गर्मी से जल्द राहत पाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले एसी का बिजली बिल अच्छे-अच्छों के पसीने छुड़ा देता है। अधिकतर लोग गर्मी से बचने के लिए डरते-डरते एसी चलाते हैं, लेकिन आज हम आपको ऐसा आसान तरीका बताने जा रहे हैं जिससे आप भी अपने बिजली बिल में कमी ला सकते हैं।

राजधानी दिल्ली में तपती गर्मी से लोग परेशान हैं। इससे राहत पाने के लिए एसी का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग कर रहे हैं। कमरे को जल्दी ठंडा करने के लिए लोग एसी का तापमान 18 डिग्री पर सेट कर देते हैं, जिसका असर बिजली खपत और बिल पर पड़ता है, जबकि एसी को 24 से 27 डिग्री पर चलाकर बिजली के बिल में 30 फीसदी तक की कमी लाई जा सकती है।

बता दें कि तीन से चार फीसदी ऊर्जा की बचत हर एक डिग्री बढ़ने पर की जा सकती है। 18 से एसी का तापमान 27 डिग्री करने पर सालभर में 6240 रुपये बचा सकेंगे, जबकि 24 डिग्री करने पर 3900 बचा सकेंगे।

कैसे होगी बचत

लोगों में भ्रम है कि अगर एसी का तापमान 18 डिग्री सेल्सियस कर दिया जाए तो कमरा जल्दी ठंडा होगा, लेकिन यह सच नहीं है। अगर आप 26 डिग्री तापमान सेट करते हैं तो भी उतने ही समय में कमरे को ठंडा करेगा। वहीं, जब आप 18 डिग्री पर एसी का तापमान सेट करते हैं तो कंप्रेसर अधिक समय काम करता है, जिसका असर ऊर्जा खपत और अंतत: आपकी जेब पर भी पड़ता है।

29 डिग्री तापमान तक आराम से रह सकते हैं

ग्रीन बिजनेस सर्टिफिकेशन इंस्टीट्यूट (जीबीसीआई) के प्रबंध निदेशक मिली मजूमदार ने कहा कि भारत में एक अध्ययन से पता चलता है कि हम 29 डिग्री तक के तापमान पर भी आराम से रहने के अभ्यस्त हैं, बशर्ते अन्य स्थिति मानकों के अनुरूप हों। अध्ययन में अन्य मानकों में आवास स्थल पर तापमान, आर्द्रता और हवा की गति को शामिल किया गया है।

वहीं, ऊर्जा और संसाधन संस्थान (टेरी) के महानिदेशक अजय माथुर ने कहा कि 24 डिग्री तापमान पर हम अधिक आर्द्रता होने पर भी गर्मी में सहज महसूस करते हैं। साथ ही बिजली का बिल भी 18 और 22 डिग्री तापमान पर एसी के इस्तेमाल से कम आता है।

गणना का आधार

● गणना में 1.5 टन और 5 स्टार विंडो एसी को शामिल किया गया। इसमें ऊर्जा खपत 1.3 किलोवाट प्रति घंटे माना गया है।

● इसमें बिजली बिल 6.5 रुपये प्रति यूनिट के आधार पर रखा गया है, जबकि एसी का रोज 10 घंटे चलना माना गया है।

● बिजली बिल में घर में किसी और बिजली के उत्पाद को शामिल नहीं किया गया है।

● यह एक अनुमानित बचत है। इसमें कमरे के आकार, बाहर के तापमान, कंप्रेसर चलने के समय आदि में बदलाव से अंतर संभव है। स्रोत: ऊर्जा और संसाधन संस्थान (टेरी)।

कितने तापमान पर कितनी बचत

ऊर्जा की खपत                                               एसी खर्च प्रतिदिन       प्रतिमाह             बचत

27 डिग्री पर : 9.0 किलोवाट रोजाना                     58.8 रुपये                 1755 रुपये        30.8 फीसदी

24 डिग्री पर : 10.5 किलोवाट रोजाना                   68.3 रुपये                 2047 रुपये        19.2 फीसदी

18 डिग्री पर : 13 किलोवाट रोजाना                      84.5 रुपये                 2535 रुपये         —–

यह भी पढ़े

दूल्हे ने एक ही मंडप में तीन दुल्हनों के साथ लिया सात फेरे, दिलचस्प है वजह

सीवान में पत्नी की शिकायत पर पति गया जेल,पति करता था पत्नी व बच्चों के साथ मारपीट

मामा ने नाबालिग भांजी के साथ किया रेप; आरोपी गिरफ्तार

बिहार में डीएसपी बाप के एमबीए, एमबीबीएस बेटा और पतोहूं  करते थे शराब के कारोबार 

अटॉर्नी जनरल, सॉलिसिटर जनरल और एडवोकेट जनरल में क्या अंतर है?

बिहार को शराबबंदी ने सामाजिक-राजनीतिक स्तर पर उलझा कर रख दिया है, कैसे?

कैसे होती है अस्थमा की बीमारी, क्या हैं निजात पाने के तरीके?

बाबा महेंद्रनाथ धाम पर धूम धाम से मनाई गई परशुराम जयंती

लखनऊ डीएम की संवेदना ने जब बचा ली दो जिंदगियां!

 

shrinarad media

Leave a Reply

Next Post

नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा को  मिला बेल, हनुमान चालीसा पढ़ने के विवाद में गए थे जेल

Wed May 4 , 2022
नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा को  मिला बेल, हनुमान चालीसा पढ़ने के विवाद में गए थे जेल श्रीनारद मीडिया,सेंट्रल डेस्‍क: महाराष्ट्र की सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को स्पेशल कोर्ट ने बेल दे दी है। सीएम उद्धव ठाकरे के घर के बाहर हनुमान चालीसा […]
error: Content is protected !!